MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. खेती-बाड़ी

नारी साग की फसल 35 से 40 दिन में होगी तैयार, जानें खेती से जुड़ी संपूर्ण जानकारी

सर्दी के मौसम में साग खाना ज्यादातर लोगों को पसंद होता है. ऐसे में किसान सर्दी का मौसम शुरू होने से पहले अपने खेत में नारी साग की खेती (Nari Saag Cultivation) कर सकते हैं, जो किसानों को अच्छा मुनाफा देगी...

लोकेश निरवाल
नारी साग की फसल
नारी साग की फसल (Nari Saag Ki Kheti)

Nari Saag Ki Kheti: किसान अधिक मुनाफे की खेती के लिए अपने खेत में परंपरागत खेती के अलावा अन्य सब्जियों की खेती भी करते हैं. इन्हीं सब्जियों की खेती में से एक नारी खाग है, जिसकी खेती से किसान भाई अधिक मुनाफा कमा सकते हैं. 

तो आइए आज हम इस लेख में नारी साग की खेती (Nari Saag Ki Kheti) व इससे संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारी को विस्तार से जानते हैं...

नारी साग के बारे में (About Nari Saag)

उत्तर भारत के कई इलाकों में करमुआ या नारी साग के नाम से भी इसे जाना जाता है. यह खाद्य एवं पोषण सुरक्षा के लिए सबसे उत्तम जलीय सब्जियों (Aquatic vegetables) में से एक मानी जाती है. बता दें कि कई जगहों पर तो इसे सिर्फ साग के नाम से भी जानते हैं. यह एक हरी पत्तेदार सब्जी (Green leafy vegetable) है, जिसे हर एक व्यक्ति बड़े स्वाद के साथ खाता है. 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस साग को जलभराव जैसी स्थिति में सरलता से उगाया जाता है.  देखा जाए, तो इसकी खेती में लागत बहुत कम और मुनाफा सबसे अधिक होता है.

ऐसे करें नारी साग की खेती (How to cultivate female greens)

नारी साग की कलम (Nari Saag Pen) तैयार करने के लिए किसानों को 10 से 15 सेमी लंबी और साथ ही 4 से 8 वाली कलमें तैयार करनी चाहिए. अगर किसान अपने खेत के लगभग एक हेक्टेयर क्षेत्र में इसकी खेती करता है, तो इसके लिए उसे रोपण के लिए 25000 - 30000 कलमों की जरूरत पड़ेगी. इसकी सिंचाई के लिए किसान नालियों में अच्छे से पानी भरकर फसलों की सिंचाई का कार्य किया जाता है. इस बार खेत में कलमें लग जाए, तो फिर खेत में करीब 15 से 20 सेमी गहरा तक पानी भर दें, ताकि यह अच्छे से वृद्धि कर सकें.

नारी साग की कटाई का समय (Nari Saag Harvesting Time)

खेत में कलमी साग के पौधे को लगाने के बाद 35 से 40 दिन में यह फसल पूरी तरह से कटाई के लिए तैयार हो जाती है. कटाई के दौरान ध्यान रहे कि आप नारी साग को हरी पत्तियों के साथ टहनियों को भी भूमि से काट लें.

इस फसल की सबसे अच्छी खासियत यह है कि आप गर्मी और बरसात के मौसम में इसकी फसल से हर एक सप्ताह के बाद कटाई कर फसल को प्राप्त कर सकते हैं. देखा जाए, तो एक महीने में नारी साग की खेती में 4 से 5 बार कटाई कर सकते हैं.

मुनाफे की खेती है नारी साग (Nari Saag is profitable farming)

अगर आप अपने खेत में अच्छी से नारी साग की खेती (Nari Saag Ki Kheti करते हैं, तो आप इससे अपनी आमदनी को सरलता से दोगुना कर सकते हैं. नारी साग (Nari Saag Ki Kheti) की बाजार में भी मांग बनी रहती है. वर्तमान समय में मंडी में नारी साग (Nari Saag price in Mandi) लगभग 50 रुपए प्रति किलो के हिसाब से बिक रहा है. अब आप खुद हिसाब लगा सकते हैं कि इसकी खेती से आपको कितना मुनाफा होगा.

English Summary: Complete information related to the cultivation of Nari Saag Published on: 17 August 2022, 03:16 PM IST

Like this article?

Hey! I am लोकेश निरवाल . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News