1. खेती-बाड़ी

कैसे करें काले चावल की खेती (How to cultivate black rice)

श्याम दांगी
श्याम दांगी
Alok Kumar

वैसे तो सबसे पहले  काले चावल की खेती की शुरूआत चीन में हुई थी. लेकिन भारत में सबसे पहले काले चावल का उत्पादन मणिपुर और असम राज्यों में किया गया. वहीं अब देश के कई हिस्सों में इसकी खेती होती है. इसका आकार चावल की अन्य किस्मों की तरह ही होता है. लेकिन ऐसा माना जाता है कि काले चावल के हेल्थ बेनिफिट बहुत हैं. तो आइए जानते हैं काले चावल की खासियत और इसकी खेती के फायदे:

काले चावल के प्रमुख गुण (Key Properties of Black Rice)

काले चावल में चाय और कॉफी की तुलना में एंटी ऑक्सीडेंट गुणों की मात्रा अधिक होती है. यही वजह है कि इसके खाने से स्वास्थ्य संबंधित कई बीमारियों में लाभ मिलता है. अधिक मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट गुणों की वजह से यह बीमारियों  खिलाफ लड़ने की क्षमता को बढ़ाता है. वहीं विशेषज्ञों के मुताबिक यह कैंसर जैसी घातक बीमारी से लड़ने में भी काफी फायदेमंद है. वहीं सफेद और ब्राउन राइस की तुलना में इसमें विटामिन बी, विटामीन ई, कैल्शियम, आयरन, मैग्नेशियम  और जिंक जैसे तत्व ज्यादा मात्रा में होते हैं.

black wheat

किस भाव बिकते हैं काले चावल  (Price of black rice)

सीम्फेड के प्रोजेक्ट मैनेजर राकेश सिंह के मुताबिक काले चावल की खेती के प्रति किसानों की दिलचस्पी बढ़ रही है. यह अपने विशेष गुणों की वजह से लोगों के बीच लोकप्रिय हो रहा है. वहीं इससे किसान भी अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं. सफेद या ब्राउन राइस की तुलना में इसकी कीमत अधिक है. यह सामान्य तौर पर 200 से 500 रूपए प्रति किलो बिकता है. जबकि सामान्य चावल 25 से 80 रूपए प्रति किलो बिकता है. जैविक तरीके से उगाए गए काले चावल की कीमत 500 रूपए प्रति किलो तक मिल जाती है. हालांकि काले चावल की पैदावार अन्य किस्मों की तुलना में कम होती है. राकेश सिंह के मुताबिक सामान्य किस्मों की तुलना में काले चावल की पैदावार कम होती है. जहां एक एकड़ से सामान्य चावल 20 से 25 क्विंटल होता है तो वहीं काले चावल की पैदावार 8 से 10 क्विंटल ही पाती है.

काले चावल की खेती के लिए कितना बीज लगता (How much seed is required for black rice farming)

बिहार के गंगासराय गांव के किसान आलोक कुमार पेशे से बैंककर्मी है लेकिन साथ में वे काले चावल की खेती भी कर रहे हैं. उनका कहना है कि कुछ दोस्तों ने उन्हें काले चावल की खेती करने की सलाह दी थी  इसके बाद उन्होंने 300 रूपए किलो के हिसाब से काले चावल का बीज मंगाया. एक बीघा जमीन में लगभग तीन किलो बीज लगता है. वे बताते हैं कि अगर आप ऑर्गेनिक तरीके से काला चावल उगाते हैं तो आपको इसकी कीमत अधिक मिलती है.

अधिक जानकारी और बीज के लिए कहां संपर्क करें:(Contact of black rice cultivation)

सिम्फेड

पता : संग्राम भवन, डेवलपमेंट एरिया, गंगटोक, ईस्ट सिक्किम. 

फोन : +91 3592-202429/203432

 J-3/8, नियर सोनी सर्विस सेंटर, राजौरी गार्डन, नई दिल्ली. 

फोन :+91-1147042920

English Summary: black rice chak hao worth rs500 kg diabetics can also eat

Like this article?

Hey! I am श्याम दांगी. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News