1. खेती-बाड़ी

नौकरी छोड़ थाई नींबू की खेती कर आनंद मिश्रा कमा रहे हैं लाखों रुपए, जानिए इनकी सफलता की कहानी

Anand Mishar lemon Man

आज कृषि जागरण के Farmer The Brand अभियान के तहत फेसबुक लाइव से सफल किसान आनंद मिश्रा जुड़ें. जिन्होंने अंतराष्ट्रीय नौकरी छोड़ राष्ट्रीय कृषि को अपनाया है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कृषि जागरण ने #farmerthebrand अभियान की पहल की है, जिसके तहत देशभर के किसानों और पशुपालकों को अपनी बात को रखने का मौका दिया जा रहा  है. ऐसे में आइये जानते हैं सफल किसान आनंद मिश्रा की सफलता की कहानी -

यह कहानी है उत्तरप्रदेश के रायबरेली निवासी आनंद मिश्रा की. जिन्होंने  शहर में व्यापार प्रबंधन (Business Management) की शिक्षा प्राप्त कर मल्टीनेशनल कंपनी में 13 साल नौकरी की और फिर छोड़ दी. क्योंकि उनका बचपन से ही बागवानी के प्रति काफी रुझान था.हालांकि, नौकरी के वजह से वह अपने इस शौंक को पूरा नहीं कर पा रहे थे.नौकरी छोड़कर जब वह गांव आए तो उनकी रुचि खेती के प्रति और बढ़ गई. लेकिन उन्हें समझ नहीं आ रहा था कि वे कौन सी फसल की खेती करें. इसके लिए उन्होंने ने कई प्रांतों व जिलों में भ्रमण किया खेती-किसानी की पूरी जानकारी जुटाई.जिसके बाद उन्होंने थाई प्रजाति के नींबू की बागवानी करने की सोची. इसके लिए उन्होंने नीबू की उपयोगिता और उत्पादन की भी पूरी जानकारी ली. फिर उन्होंने वाराणसी से पौधा खरीदा और गांव में साढ़े तीन बीघा भूमि पर कुल 900 पौधे लगाए. जिसके बाद उन्हें नींबू के एक पौध से सालाना 20 से 25 किलो बिना बीज का फल मिलने लगा.

Krishi Jagran Hindi live

Krishi Jagran Hindi Live

अब खुद ही व्यापारी गांव आकर उनसे माल खरीद कर ले जाते हैं. इसके अलावा आनंद मिश्रा से सोशल मीडिया के जरिए कई राज्यों के किसान उनके साथ जुड़ें हुए है जो उनसे नींबू की बागवानी के बारे में जानकारी समय – समय पर लेते रहते हैं. आनंद ने अपने गांव में ही नींबू के पौधों की नर्सरी भी खोल रखी है. वर्तमान समय में, वह नींबू की खेती से लाखों की कमाई कर रहे हैं.

आइये जानते हैं सफल किसान आनंद मिश्रा लेमन मैन रायबरेली ने #farmerthebrand अभियान के तहत क्या–क्या कहा -

आज हमारा विषय है बागवानी और अर्थव्यवस्था

  • जो भी किसान बागवानी कर रहे हैं अगर वे धरती की व्यवस्था को सुधार लेंगे तो उनकी अर्थव्यवस्था खुद ही सुधार पर आ जाएगी.

  • जड़ों का विकास - जमीन कठोर हो चुकी है इसे कोमल बनाने के लिए कार्बोनिक पदार्थों को बढ़ाना होगा, फसल चक्र अपनाना होगा तभी धरती की अर्थव्यवस्था आगे बढ़ेगी.

  • प्रिवेंटिव एक्शन - फसल व बागवानी करने वाले किसानों को अपनी फसलों का एक डाटा तैयार करना जिसमें उन्हें फसल किस दिन बोई, कितनी बार सिंचाई की, कब रोग आया, कब फसल की कटाई हुई आदि. इस डाटा को रखने से फसल को रोगों को सुरक्षित रखने में मदद मिलेगी.

lemon Man

Lemon Man

  • फसल की गुणवत्ता - फसल सब उगाते हैं पर गुणवत्ता की वजह से किसी का उत्पाद 40 रुपए में बिकता है तो किसी का 20 रुपए इसलिए कोशिश करें कि ज्यादा से ज्यादा लोगों से जुड़े और ग्रुप बनाए और अपना उत्पाद अपने हिसाब से बेचें.

  • अपने छोटे -छोटे काउंटर्स बनाए लोगों को अपने उत्पाद के बारे में बताये.

  • जो भी पैदावार कर रहे हैं अपना कोई By Product निकाले और उसे ऑनलाइन या ऑफलाइन माध्यम से बेचें.

  • बागवानी ऐसी है जिसमें जितने प्रयोग होंगे ये उतनी ही सफल होगी.

  • बागवानी हर किसान को करनी चाहिए ये आपको कभी घाटा नहीं करवाएगी.

  • नींबू की मांग देश से लेकर विदेशों से बहुत ज्यादा है.ये रोग प्रतिरोध क्षमता को बढ़ाने के साथ समस्याओं से भी बचाता है.

 सफल किसान आनंद मिश्रा की खेतीबाड़ी के तरीके को जानने के लिए एक बार https://www.facebook.com/krishijagrannews/videos/691146951741649/ पर ज़रूर विजिट करें.

English Summary: Anand Mishra is earning millions by quitting his job, cultivating Thai lemon, know his success story

Like this article?

Hey! I am मनीशा शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News