MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. खेती-बाड़ी

Badam Farming Profit: लाखों का मुनाफा देती है बादाम की खेती, जानें कैसे शुरू करें इसका बिज़नेस?

बहुत लोग हैं जिन्हें खेती में कुछ नया करने की चाह होती है ऐसे में वो बादाम की खेती कर लाखों का मुनाफा करना आम बात है. यदि आप इसकी खेती ढंग से करे तो इसमें आप करोड़ों का मुनाफा भी कर सकते हैं. इस लेख में आज हम आपको बादाम की पूरी खेती की जानकारी देने वाले हैं ताकि आप इसको सरल तरह से उगा पाएं.

रुक्मणी चौरसिया
Why Almond Farming is Profitable in India?
Why Almond Farming is Profitable in India?

बादाम (Almond Farming) की खेती शुरू करने से पहले के सवाल होते हैं कि क्या बादाम की खेती लाभदायक है? बादाम का पेड़ कैसे उगता है? बादाम के बीज कैसे लगाएं और कहां से खरीदें? यह सारे सवाल आपके मन में आते हैं जिनका जवाब आज हम आपको इस लेख में देने वाले है. जी हां, आज हम आपको बतायेंगे की बादाम की खेती कैसे करें (How to Cultivate Almonds).

बादाम की खेती (Almond Cultivation)

बादाम की खेती के लिए मिट्टी (Soil for Almond Cultivation)

बादाम की खेती दोमट, गहरी और अच्छी जल निकासी वाली मिट्टी के लिए सबसे उपयुक्त होती है. बादाम के पेड़ भारी या खराब जल निकासी वाली मिट्टी में अच्छी तरह से नहीं उग पाते हैं. बादाम मिट्टी की एक विस्तृत श्रृंखला (Almond Grow in Wide Range) में उगते हैं और मिट्टी का PH रेंज 7.0-8.5 के बीच होना चाहिए.

बादाम की खेती के लिए आवश्यक जलवायु (Climate Required for Almond Cultivation)

Badam Ki Kheti के लिए ऐसी जलवायु की आवश्यकता होती है, जिसमें गर्मी का तापमान 30- 35 सेल्सियस के बीच होता है.

बादाम कैसे लगाएं (How to Plant Almonds)

  • बादाम के पौधों को 6 मीटर x 6 मीटर और 5 मीटर X 3.5 मीटर की दूरी पर एक वर्ग प्रणाली में लगाया जाना चाहिए.

  • रोपण से पहले, सितंबर से अक्टूबर के महीने के दौरान 3 फीट x 3 फीट x 3 फीट के गड्ढे खोदने चाहिए.

  • बादाम के पौधों को फरवरी से मार्च तक गड्ढे के बीच में लगाया जाना चाहिए.

  • Badam Ke Ped को हवाओं से बचाने और सीधे बढ़ने के लिए बांस का इस्तेमाल किया जाना चाहिए.

बादाम के पेड़ की खाद और उर्वरक (Almond Tree Manure and Fertilizer)

बादाम का पेड़ एक भारी फीडर है. इसलिए, इसे अच्छी मात्रा में खाद और उर्वरकों की आवश्यकता होती है. सर्दी के मौसम (दिसंबर से जनवरी) के दौरान प्रत्येक पेड़ में 20 से 25 किग्रा की दर से अच्छी तरह से सड़ी हुई फार्म यार्ड खाद डालना सबसे अच्छा है.

इसके बाद यूरिया को 2 से 3 भागों में बांटकर प्रयोग करना चाहिए. पहली खुराक डीएपी और एमओपी की खिलने से पहले डालनी चाहिए. फिर यूरिया की दूसरी खुराक फल लगने के लगभग तीन सप्ताह बाद और यूरिया की तीसरी खुराक मई-जून में लगाई जानी चाहिए.

बादाम के पेड़ के लिए पानी की आवश्यकता (Water Requirement for Almond Tree)

बादाम के बागान (Almond Orchards) पानी की कमी के प्रति सबसे अधिक संवेदनशील होते हैं. फरवरी-मार्च से लेकर फल विकास के लिए अप्रैल-जून तक में इसकी गुणवत्ता और अधिक उपज प्राप्त करने के लिए पानी देना चाहिए. बता दें कि बादाम की खेती में ड्रिप इरिगेशन वाटरिंग विधि बहुत कारगर पाई गई है.

बादाम की खेती में कटाई कैसे करें (How to Harvest in Almond Cultivation)

सबसे पहले यह सुनिश्चित करें कि यह कटाई के लिए सूखा है और बारिश से नट्स की गुणवत्ता खराब हो सकती है. इसकी कटाई लाठी या हाथ से शाखाओं को खटखटाते हुए की जाती है. लेकिन शाखाओं को डंडों से मारते समय फलने वाली लकड़ी और शाखाओं को बचाने के लिए सावधानी बरती जाती है. इसके बाद में बादाम के छिलके को हाथ से हटा दिया जाता है. 

बादाम की कटाई के तुरंत बाद, फलों को छिलने की आवश्यकता होती है अन्यथा वे कवक संक्रमण से बहुत जल्दी खराब हो जाते हैं. फिर नट्स को धूप में सुखाया जाता है. 

बादाम के स्वास्थ्य लाभ (Health Benefits of Almonds)

  • बादाम खराब कोलेस्ट्रॉल को कम कर सकते हैं.

  • बादाम दिल के दौरे के जोखिम को कम कर सकते हैं.

  • बादाम स्वस्थ वसा प्रदान करते हैं और वजन घटाने में सहायता कर सकते हैं.

  • बादाम मस्तिष्क की अच्छी कार्यप्रणाली प्रदान करते हैं.

  • बादाम दांतों और हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करते हैं.

भारत में बादाम के स्थानीय नाम (Local names of almonds in India)

  • बादाम पप्पू (तेलुगु)

  • बादाम परुप्पु (तमिल)

  • बादामी (कन्नड़)

  • बादाम कायू (मलयालम)

  • बादाम (हिंदी, मराठी)

भारत में बादाम की व्यावसायिक किस्में (Commercial Varieties of Almonds in India)

भारत में बादाम की खेती की जाने वाली कुछ व्यावसायिक किस्मों में नॉन-पैरिल, कैलिफ़ोर्निया पेपर शेल, मर्सिड, आईएक्सएल, शालीमार, मखदूम, वारिस, प्रणयज, प्लस अल्ट्रा, प्रिमोर्स्कीज, पीयरलेस, कार्मेल, थॉम्पसन, प्राइस, बट्टे, मोंटेरे, रूबी, फ्रिट्ज, सोनोरा, पाद्रे शामिल हैं.

English Summary: Almond farming gives profit of lakhs, know how to start its business Published on: 04 February 2022, 03:36 PM IST

Like this article?

Hey! I am रुक्मणी चौरसिया. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News