1. कंपनी समाचार

एचपीएम के प्रयासों से किसानों को मिलेगा फायदा

किसान यही सोचता रहा है कि कैसे उसको अधिक फसल उत्पादन मिल जाए जिससे कि अच्छी आय हो सके, लेकिन जब तक किसान अच्छे कृषि उत्पादों का इस्तेमाल नहीं करेंगे तब तक यह संभव नही है. फसल उत्पादन बढाने में कृषि रसायनों का अहम योगदान है. किसानों द्वारा कृषि रसायनों के इस्तेमाल से देश में कृषि उत्पादन बढ़ा है. बेहतरीन और गुणवत्ता वाले कृषि रसायनों का निर्माण करने वाली कृषि कंपनियां इसमें ख़ास भूमिका निभा रही हैं. कृषि रसायन कंपनी एचपीएम कृषि के क्षेत्र में एक जाना-माना नाम है. यह कृषि कंपनी फसल सुरक्षा के लिए किसानों को पूरा समाधान उपलब्ध करा रही है. भारतीय कृषि रसायन क्षेत्र को और मजबूत करने के लिए एचपीएम ने एक बहुत ही अहम कदम उठाया है. यह कंपनी देश में मेन्कोजेब मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाने जा रही है. इस प्लांट को लगाने के बाद एचपीएम देश की बड़ी ऐसी कंपनी होगी जो मैन्कोजेब का निर्माण करेगी.

अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर भी यह कंपनी काफी अच्छा कर रही है. हाल ही में पीएमएफएआई द्वारा आयोजित अन्तर्राष्ट्रीय कार्यक्रम में इस कंपनी ने प्रतिभागिता की. यहाँ पर कंपनी के सभी अधिकारीगण मौजूद रहे. इस अन्तर्राष्ट्रीय कार्यक्रम में एचपीएम ने अन्य देशों के प्रतिनिधियों के साथ कृषि रसायन क्षेत्र पर चर्चा की. कंपनी कई देशों में अपने उत्पाद एक्सपोर्ट कर रही है. इस मौके पर कंपनी के आला अधिकारीयों ने बताया कि भारत में मेन्कोजेब के निर्माण के जरिए कृषि को एक नई दिशा मिलेगी और इससे किसानों को लाभ मिलेगा. ज्ञात हो अभी तक देश में बहुत सारे कृषि रसायनों के टेक्निकल दूसरे देशों से निर्यात किए जाते हैं. लेकिन अब देश में ही कृषि रसायनों के टेक्निकल निर्माण के लिए इस क्षेत्र की कंपनियों ने काम करना शुरू कर दिया है. एचपीएम भी इसी थीम पर काम कर रही है. इस कंपनी का मुख्य उद्देश्य पूरी तरह से किसानों के हित के लिए कार्य करना है. बताते चलें इस कार्यक्रम के मौके पर एचपीएम के चेयरमैन अशोक अग्रवाल, तपस्या गोयल, एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर, उदयभास्कर, सीओओ, हरिशंकर एजीएम इम्पोर्ट-एक्सपोर्ट मौजूद रहे. 

English Summary: Farmers will get benefit from HPM's efforts

Like this article?

Hey! I am . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News