वित्त वर्ष की पहली तिमाही में बॉश 21.3 प्रतिशत की वृद्धि

बेंगलुरू- प्रौद्योगिकी और सेवाओं के एक प्रमुख आपूर्तिकर्ता बॉश लिमिटेड ने वित्त वर्ष 2018-19 के पहली तिमाही में 3,212 करोड़ रुपये का राज्स्व प्राप्त किया है. यह पिछले साल की तुलना में 21.3 प्रतिशत ज्यादा है. अगर कर से पहले लाभ (पीबीटी) की बात करें तो यह 649 करोड़ रुपए था जो अच्छे कारोबार के बाद पिछले वर्ष की तुलना में 40.5 प्रतिशत की वृद्धि है. वहीं टैक्स (पीएटी) के बाद शुद्ध लाभ 431 करोड़ रुपये रहा, जो पिछले वर्ष की समान अवधि में 42.4 प्रतिशत था.

इस विषय पर अधिक जानकारी देते हुए बॉश लिमिटेड के प्रबंध निदेशक सौमित्र भट्टाचार्य ने कहा, "बॉश लिमिटेड ने इस वर्ष ऑटोमोटिव उद्योग में वैश्विक स्तर पर और स्थानीय स्तर पर प्रगतिशील योगदान दिया है. हम आर एंड डी पर उच्च खर्च, पूंजी के रूप निवेश और कंपनी के लिए सभी योगदान को जारी रखेंगे. उन्होंने आगे कहा कि "शेष वित्तीय वर्ष में बॉश भारतीय ऑटोमोटिव उद्योग में एक महत्वपूर्ण भाग को देखेगा.

पहली तिमाही में विभागों के प्रदर्शन का ब्योरा

बॉश लिमिटेड की मोबिलिटी सॉल्यूशंस बिजनेस सेक्टर 2018-19 में 20.5 फीसदी बढ़ी. घरेलू बिक्री में 21.7 प्रतिशत की वृद्धि हुई, जबकि निर्यात बिक्री में 7.4 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई. मोबिलिटी सॉल्यूशंस बिजनेस के अंदर, पॉवरट्रेन सॉल्यूशंस बिजनेस डिवीजन ने 26.5 प्रतिशत की मजबूत दो अंकों की वृद्धि दर्ज कर एक महत्पूर्ण प्रदर्शन किया. पॉवरट्रेन सॉल्यूशंस घरेलू बिक्री 28.2 प्रतिशत बढ़ी, घरेलू मोटर वाहन बाजार से बेहतर प्रदर्शन, जिसने इसी अवधि में 24.6 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई.

जिम्मी (पत्रकार)

कृषि जागरण

Comments