Commodity News

महिंद्रा ने तोड़ा अपना ही रिकॉर्ड, लॉकडाउन में भी 69 प्रतिशत बढ़ी ट्रैक्टरों की बिक्री

सभी अनुमानों को गलत साबित करते हुए महिंद्रा एंड महिंद्रा ने एक बार फिर कृषि क्षेत्र में अपना परचम लहराया है. जी हां, अगस्त 2020 की ट्रैक्टरों की सेल्स रिपोर्ट की लिस्ट में कंपनी का प्रदर्शन शानदार है. अपने सभी कॉम्पटीटर्स को पीछे छोड़ते हुए कंपनी ने 69 प्रतिशत की जबरदस्त बढ़ोतरी की है.

रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी 23,503 ट्रैक्टरों की बिक्री करने में सफल रही है. लॉकडाउन के बाद भी ऐसी सफलता कैसे मिली, इसके जवाब में कंपनी ने मीडिया को बताया कि बेहतर मानसून और समय पर फसल की बुआई होने के कारण ट्रैक्टरों की बिक्री में बढ़ोत्तरी हुई.

कंपनी ने तोड़ा अपना ही रिकॉर्ड

कंपनी के प्रदर्शन की बात करे तो अगस्त 2019 के अपने ही रिकोर्ड को महिंद्रा ने तोड़ा है. पिछले साल जहां 13,871 यूनिट ट्रक्टरों की बिक्री हुई थी, वहीं इस बार 23,503 ट्रैक्टरों की बिक्री हुई है. इतना ही नहीं पिछले साल के मुकाबले कंपनी का एक्सपोर्ट भी इस बार बढ़ा है.

पूरी क्षमता के साथ काम कर रही है टीम

महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड के फार्म इक्विपमेंट अध्यक्ष हेमंत सिक्का ने इस सफलता का श्रेय कंपनी के समस्त कर्मचारियों को दिया है. अपने एक बयान में उन्होंने कहा कि जुलाई के बाद अगस्त में भी हम टारगेट को पूरा करने में सफल रहे, इसका श्रेय पूरी टीम को जाता है.

आगे बढ़ेगी बिक्री

कंपनी को उम्मीद है कि त्यौहारों का मौसम आते ही बिक्री बढ़ेगी. गौरतलब है कि लॉकडाउन के बाद से ही ऑटोमोबाइल सेक्टर घाटे में चल रहा है, लेकिन ट्रैक्टरों और अन्य कृषि उपकरणों की बिक्री में लगातार वृद्धि हुई है.

कृषि क्षेत्र की शान है महिंद्रा

ग्रामीण भारत में देश की अग्रणी ट्रैक्टर निर्माताओं में एक महिंद्रा को कृषि क्षेत्र की शान कहा जाता है. कंपनी के ट्रैक्टर नागपुर स्थित प्लांट में निर्मित होने के बाद बाकि राज्यों में आते हैं. इसके साथ ही कंपनी अन्य कृषि उपकरणों का निर्माण भी यहीं करती है.

ये खबर भी पढ़े: महिंद्रा स्वराज 963 एफई ट्रैक्टर के मालिक बने महेंद्र सिंह धोनी, जानिए इस ट्रैक्टर की खासियत



English Summary: mahindra tractor sales up 65 percent even in august month of covid19 know more about market news

कृषि पत्रकारिता के लिए अपना समर्थन दिखाएं..!!

प्रिय पाठक, हमसे जुड़ने के लिए आपका धन्यवाद। कृषि पत्रकारिता को आगे बढ़ाने के लिए आप जैसे पाठक हमारे लिए एक प्रेरणा हैं। हमें कृषि पत्रकारिता को और सशक्त बनाने और ग्रामीण भारत के हर कोने में किसानों और लोगों तक पहुंचने के लिए आपके समर्थन या सहयोग की आवश्यकता है। हमारे भविष्य के लिए आपका हर सहयोग मूल्यवान है।

आप हमें सहयोग जरूर करें (Contribute Now)

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in