इस हफ्ते मौसम का हाल एवं विभिन्न राज्यों में खेती की सलाह

किसान भाइयों इस सप्ताह देश के कुछ हिस्सों में बारिश तो कहीं-कहीं पर आंधी व गरज-चमक का अनुमान है। उत्तर प्रदेश में कुछ जगहों पर गरज-चमक के साथ बारिश व कुछ जगहों पर गर्म हवाओं के चलने के आसार हैं। इस बीच प्रदेश में खड़ी फसलों में सिंचाई का सुझाव है साथ ही तैयार हो चुकी सब्जियों की तुड़ाई कर लें। खरीफ मक्का की बुवाई कर लें। खासकर गन्ना की फसल में सिचाईं का ध्यान रखें।

तो वहीं मध्य भारत में भी धूल-भरी आंधी, कुछ हिस्सों में गरज-चमक के साथ बारिश के आसार हैं। इस बीच प्रदेश में खेती के अंतर्गत सोयाबीन के लिए खेत तैयार करने एवं तथा चावल के लिए पौध तैयार करने का सुझाव है। गर्म एवं सूखी हावाओं से फलों को बचाने का सुझाव है। इसके लिए जूट बैग का इस्तेमाल करें। मूंगफली, मूंग, उड़द व गन्ना में सिंचाई करें। पश्चिमी मध्य प्रदेश में पशुपालकों के लिए सुझाव है कि वह पशुओं को सुबह अथवा शाम में चराने के लिए ले जाएं। दोपहर में पर्याप्त में पानी पिलाएं। साथ ही पानी में पर्याप्त मात्रा में खनिज की मात्रा मिलाएं।

उत्तराखंड जैसे पहाड़ी इलाकों पॉलीहाउस में शिमला मिर्च और बैंगन का रोपण करें। इसके अलावा अरवी, अदरक और हल्दी की बुवाई करें। तो वहीं हिमाचल प्रदेश में चावल की बुवाई के लिए नर्सरी तैयार करें। टमाटर, शिमला मिर्च और मिर्च लगाएं।

पंजाब और हरियाणा में धान विभिन्न किस्में ( पीआर 123, पीआर 126, पीआर 124, पीआर 122, पीआर 123, पीआर 121, पीआर 114 आदि) की नर्सरी तैयार करें। साथ ही हरियाणा में कपास की बुवाई जारी रखें। वर्षाकालीन सब्जियों की बुवाई जारी रखें। जैसे कि पंजाब में  भिंडी की बुवाई की जा सकती है। साथ ही पंजाब और हरियाणा में गन्ना, मूंग, मक्का एवं सब्जियों की फसल में सिंचाई ध्यान रखें।

राजस्थान में कपास की बुवाई जारी रखें। साथ ही सब्जी, मूंग, ग्रीष्मकालीन मूंगफली में सिंचाई करें। तैयार हो गई सब्जियों की तुड़ाई कर लें।

Comments