MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. मौसम

Weather Alert! भारी बारिश से किसानों का हुआ बड़ा नुकसान, मौसम का रुख बदलने से हुए चिंतित

आजकल मौसम के मिजाज में बड़ा बदलाव देखने को मिल रहा है, जिसके चलते राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में इस साल पहली बार न्यूनतम तापमान 12 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है. तो वहीं आज के तापमान की बात करें तो अधिकतम 26 डिग्री और न्यूनतम तापमान 12 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है.

मनीशा शर्मा
farmer
Weather

आजकल मौसम के मिजाज में बड़ा बदलाव देखने को मिल रहा है, जिसके चलते राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में इस साल पहली बार न्यूनतम तापमान 12 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है. तो वहीं आज के तापमान की बात करें तो अधिकतम 26 डिग्री और न्यूनतम तापमान 12 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है.

वहीं, तमिलनाडु में पिछले कुछ दिनों से हो रही भारी बारिश से करीब 55,000 हेक्टेयर भूमि जलमग्न हो गई है, जिसमें से 3,500 हेक्टेयर में फसल नष्ट हो गई है. इसके अलावा, भारी बारिश से भारी मात्रा में फसल नष्ट होने से केरल जैसे राज्यों में सब्जियों की आपूर्ति भी खतरे में पड़ गई है. वहीं, दूसरी ओर मौसम की मार से इनदिनों मुजफ्फरपुर के आलू उत्पादक किसान परेशान हैं. दरअसल, इस साल बारिश ने सभी रिकार्ड तोड़ दिये थे. वहीं, इससे हुए जलजमाव का असर अभी तक कायम है. जिस तरह से जलजमाव की स्थिति है उसके हिसाब से इस बार वहां आलू की खेती का रकबा कम होने की संभावना है.

इसके अलावा, मौसम विभाग ने मैदानी इलाकों वालों के लिए एक बुरी खबर दी है.  उत्तरभारत के कई इलाकों में नवंबर व दिसंबर माह में ला नीना तूफ़ान कहर बरपा सकता है. जिसके चलते ठंड बढ़ने की संभावना है. वहीं, मौसम विभाग ने आने वाले दिनों देश के कई राज्यों में पारा और तेजी के साथ गिरने और जिससे ठंड तो बढ़ेगी ही मौसम में भी काफी परिवर्तन देखने को मिलेगा. अगर बात करें, उत्तरी तटीय तमिलनाडु और तटीय आंध्र प्रदेश कई हिस्सों में मध्यम से भारी बारिश हो सकती है. तो दूसरी तरफ दिल्ली की वायु गुणवत्ता में अभी सुधार नहीं दिख रहे हैं. ऐसे में प्रदूषण का स्तर बढ़ने से लोगों को स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में आइए निजी मौसम एजेंसी स्काइमेट वेदर के मुताबिक जानते हैं आगामी 24 घंटों के मौसम का पूर्वानुमान-

देशभर में बने मौसमी सिस्टम

दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना दबाव 21 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से पश्चिम उत्तर-पश्चिम दिशा में बढ़ रहा है. आज 11 नवंबर को 5:30 बजे, यह लगभग 12 डिग्री उत्तर और देशांतर 81.4 पूर्व में चेन्नई से 170 किमी पूर्व दक्षिण पूर्व और पुडुचेरी से 170 किमी पूर्व में था. यह 11 नवंबर की शाम तक चेन्नई के पास उत्तरी तमिलनाडु तट को पार कर सकता है.

13 नवंबर के आसपास दक्षिण अंडमान सागर के ऊपर एक और कम दबाव का क्षेत्र विकसित होने की उम्मीद है. इसके बाद के 48 घंटों में यह पश्चिम उत्तर-पश्चिम दिशा में आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु की ओर बढ़ जाएगा.

अगले 24 घंटों के दौरान मौसम की संभावित गतिविधि

अगले 24 घंटों के दौरान, उत्तरी तटीय तमिलनाडु और तटीय आंध्र प्रदेश के आसपास के हिस्सों में मध्यम से भारी बारिश हो सकती है. आंतरिक तमिलनाडु, रायलसीमा, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, केरल के कुछ हिस्सों और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में एक या दो स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है.

तटीय ओडिशा, दक्षिण तेलंगाना, लक्षद्वीप और तटीय कर्नाटक में एक या दो मध्यम बारिश के साथ हल्की बारिश हो सकती है. अगले 48 घंटों के दौरान आंध्र और तमिलनाडु तट पर मध्यम से तेज हवाएं चलने की संभावना है. हवा की गति 45 से 55 किमी प्रति घंटे से लेकर 65 किमी प्रति घंटे तक हो सकती है. समुद्र की स्थिति भी उबड़-खाबड़ रह सकती है.

English Summary: Weather Alert! Farmers have suffered huge losses due to heavy rains Published on: 12 November 2021, 11:08 AM IST

Like this article?

Hey! I am मनीशा शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News