देश के कुछ राज्यों में भारी बारिश का पूर्वानुमान, किसानों के लिए जानना है जरूरी

पिछले कुछ दिनों से मॉनसून देश के कुछ राज्यों में सक्रिय बना हुआ है. राजधानी दिल्ली समेत कुछ राज्यों में बारिश की वजह से लोगों को गर्मी से राहत मिली है. मॉनसून की अक्षीय रेखा अब अनुपगढ़, कम दबाव वाले क्षेत्र, शिवपुरी, वाराणसी, पटना, जमशेदपुर, दीघा और बंगाल की पूर्वोत्तर खाड़ी की ओर जा रही है. पूर्व राजस्थान और आसपास के क्षेत्रों में एक निम्न दबाव का क्षेत्र बना हुआ है. उत्तर-पश्चिम मध्य प्रदेश से हरियाणा होते हुए पंजाब तक एक ट्रफ रेखा जा रही है. इसके अलावा एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र दक्षिण गुजरात और उत्तरी कोकण पर स्थित है. आख़िरी में एक पश्चिमी विक्षोभ पाकिस्तान के उत्तरी हिस्सों और जम्मू-कश्मीर पर है.

पिछले 24 घंटों के दौरान अगर मॉनसून के प्रदर्शन की बात करें तो मॉनसून पूर्व राजस्थान, अरुणाचल प्रदेश और उपरी असम पर सक्रिय रहा जिससे यहां सामान्य से अधिक बारिश हुई है. देश के कुछ राज्य जैसे दिल्ली, उत्तर प्रदेश, उत्तर राजस्थान, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और निचले असम में मध्यम बारिश हुई. आखिरी में केरल, तेलंगना, छत्तीसगढ़ और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के अलावा सभी जगहों पर हल्की बारिश हुई.  

देश में अगले 24 घंटों में मॉनसून के पूर्वानुमान की बात करें तो देश के कुछ राज्य प्रदेश, असम, नागालैंड, मेघालय, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम पर मॉनसून सक्रिय होने की संभावना है जिस्से सामान्य से अधिक बारिश होने का अनुमान है. वहीं देश के कुछ अन्य राज्य उत्तराखंड, बिहार, झारखंड, शेष पश्चिम बंगाल, ओडिशा, दक्षिण कर्नाटक, उत्तर तमिलनाडु, दक्षिण रायलसीमा और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में सामान्य बारिश होने की उम्मीद है. पूर्वी राजस्थान, जम्मू-कशमीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तर पंजाब, उत्तर हरियाणा, उत्तर प्रदेश, उत्तर मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश और गुजरात में मॉनसून की स्थिति में कमी होगी.  

 

कृषि जागरण डेस्क

साभार: skymetweather.com

Comments