1. मौसम

मौसम पूर्वानुमानः देश के इन इलाकों में जानिए कैसा रहेगा मौसम का अनुमान

किशन
किशन

देश में राजधानी दिल्ली समेत आसपास के इलाकों नोएडा, गुरूग्राम, गाजियाबाद, फरीदाबाद में इस वक्त प्रदूषण से हालात ज्यादा खराब है. मौसम विभाग के मुताबिक यहां पर प्रदूषण अगले 24 घंटों तक मध्यम से गंभीर श्रेणी में ही रहेगा. रविवार के दिन भी दिल्ली से लेकर उत्तर प्रदेश के कुछ शहरों में गहरी धुंध छाई रही है. प्रदूषण के चलते विजिबिलटी इतनी कम है. कि हवाई सेवाएं भी काफी ज्यादा प्रभावित हो रही है. आने वाले 24 घंटों के बाद प्रदूषण के स्तर में कुछ सुधार की उम्मीद दिखाई दे सकती है. क्योंकि देर शाम से तेज हवाएं चलने की आशंका जताई गई हैं. राजधानी में प्रदूषण के चलते लोगों का सांस लेना मुश्किल हो रहा है.

देशभर में ऐसा है चक्रवाती सिस्टम

अगर हम देशभर में मौसमी सिस्टम की बात करें तो इस वक्त भीषण चक्रवात तूफान महा अरब सागर के मध्य पूर्व में है. यहां पर दीव से यह 540 किलोमीटर दक्षिण और दक्षिण पश्चिम में है. वही जम्मू-कश्मीर के आसपास भी एक पश्चिमी विक्षोभ बना हुआ है. मौसम विभाग के मुताबिक बंगाल की खाड़ी के आसपास एक नया तूफान विकसित होने की संभावना भी जताई जा रही है, दरअसल थाईलैंड के पास एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र दिखाई दे रहा है इसके बंगाल की खाड़ी की तरफ बढ़ने की संभावना है. यही सिस्टम बाद में तूफान का रूप ले सकता है.

weather delhi

पिछले 24 घंटो में ऐसा रहा मौसम

मौसम विभाग के मुताबिक देश में पिछले 24 घंटों के दौरान महाराष्ट्र और तमिलनाडु में कई स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर मध्यम के साथ भारी बारिश भी दर्ज की गई है. वही गुजरात, केरल और तेलंगाना में भी कुछ जगहों स्थानों पर बारिश हुई है. वही धुंध की परत दिल्ली-एनसीआर, उत्तर प्रदेश, बिहार, उत्तरी मध्य प्रदेश और उत्तरी छत्तीसगढ़ पर छाई हुई है. सबसे ज्यादा बुरा हाल दिल्ली और एनसीआर रीजन का जहां पर वायु गुणवत्ता सूचकांक 800 के स्तर को पार कर चुका है.

English Summary: Along with weather in Delhi, know how is the condition of the weather in other states

Like this article?

Hey! I am किशन. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News