1. सफल किसान

गेंदे की खेती से बदली किसानों की किस्मत, हो रहा है बंपर मुनाफा

कम लागत में अगर आप भी बड़ा मुनाफा कमाना चाहते हैं तो परंपरागत फसलों के साथ-साथ नकदी फसलों की खेती भी कर सकते हैं. जी हां, समय के साथ नकदी फसलों में मुनाफे की संभावनाएं बढ़ रही है. इसी का उदाहरण है कि बिहार के पूर्णिया जिले में रहने वाले कई किसान आज फूलों की खेती से अच्छी आमदनी कमा रहे हैं. चलिए आपको इसके बारे में बताते हैं.पूर्णिया जिले के धमदाहा प्रखंड में किसानों को फूलों की खेती से लाभ हो रहा है. खास बात तो यह है कि सिर्फ पुरूष ही नहीं, बल्कि महिला किसान भी इसकी खेती कर रहे हैं. यहां के डुमारिया गांव के करीब 50 से अधिक किसान 40 एकड़ जमीन पर सिर्फ गेदें की खेती कर रहे हैं.

वैल्यू एडिशन से हो रहा है फायदा

यहां के किसानों के मुताबिक खेती के अलावा उसमें कुछ कामों को जोड़ने से अघिक मुनाफा हो रहा है. यहां के किसान गेंदे की खेती कर उसे बाजार में बेचते हैं. वैल्यू एडिशन की महत्वता को समझते हुए किसान खुद ही इन फूलों से तरह-तरह के उत्पाद बनाते हैं. फूलों को गमलों, गुलदस्तों एवं मालाओं के रूप में बाजार में बेचने से अधिक मुनाफा मिलता है. यहां प्रायः एक साल में चार तरह की खेती होती है.

ऑनलाइन से होता है फायदा

यहां के किसानों के मुताबिक आज का समय ऑनलाइन बिजनेस का है. इसलिए फूलों को बेचने के लिए कई तरह के सोशल मीडिया पर वो आ चुके हैं. ऑनलाइन माध्यम से फूलों की बिक्री घर बैठे ही हो जाती है. यहां के किसानों के मुताबिक आज के समय में यहां के फूलों की मांग सिर्फ बिहार ही नहीं बल्कि आस-पास के राज्यों में भी होने लगी है.

(आपको हमारी खबर कैसी लगी? इस बारे में अपनी राय कमेंट बॉक्स में जरूर दें. इसी तरह अगर आप पशुपालन, किसानी, सरकारी योजनाओं आदि के बारे में जानकारी चाहते हैं, तो वो भी बताएं. आपके हर संभव सवाल का जवाब कृषि जागरण देने की कोशिश करेगा)

ये खबर भी पढ़ें: किसानों के लिए खुशखबरी ! सरकार ने किया वन नेशन, वन मार्केट का ऐलान

English Summary: this is how farmer of this village earn huge profit by Marigold farming

Like this article?

Hey! I am सिप्पू कुमार. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News