1. सफल किसान

Vermicompost Business: BUMS की पढ़ाई के बाद शुरू किया ये बिजनेस, आज सालाना 40 लाख का टर्नओवर

श्याम दांगी
श्याम दांगी

रासायनिक खेती से न सिर्फ इंसान की सेहत ख़राब हो रही है, बल्कि इससे मिट्टी की उर्वरक क्षमता भी घट रही है. ऐसे में आज किसानों को जैविक खेती के लिए प्रोत्साहित करना बेहद जरुरी है. 

जिस तरह से महामारी के इस दौर में ऑर्गनिक उत्पादों की तरफ लोगों का रुझान बढ़ा है, उसे देखते हुए आना वाला समय ऑर्गनिक खेती का ही होगा. ये कहना है युवा फार्मर डॉ. रिज़वान खान, जो कि मेरठ से 5 किलोमीटर दूर किना नगर गांव से ताल्लुक रखते हैं.

वे पेशे से डॉक्टर हैं और मेरठ के हॉस्पिटल में इंटर्नशिप कर रहे हैं. एक साल पहले उन्होंने वर्मीकम्पोस्ट का बिजनेस शुरू किया. इस बिजनेस से आज उनका सालाना टर्नओवर 40 लाख रुपए का है.

केंचुए की ऑस्ट्रेलियन ब्रीड (Australian breed of earthworm)

कृषि जागरण से बातचीत करते हुए डॉ. रिज़वान ने बताया कि हम लोग केंचुए की ऑस्ट्रेलियन ब्रीड Eisenia Fetida के जरिए वर्मीकम्पोस्ट तैयार करते हैं. सामान्य केंचुए मिट्टी खाते हैं, जबकि केंचुए की यह नस्ल केवल गोबर खाती है. जो देखने में लाल रंग का होता है. जिससे उच्च गुणवत्ता का वर्मी कम्पोस्ट तैयार होता है.
BUMS (बैचलर ऑफ़ यूनानी मेडिसिन एंड सर्जरी) की डिग्री ले चुके डॉ. रिज़वान का कहना है कि पिछले एक डेढ़ साल से वे  यह बिजनेस कर रहे हैं. उन्होंने आयुर्वेदिक मेडिसिन में पढ़ाई की है. आयुर्वेद के महत्त्व को समझते हुए ही उन्होंने यह बिजनेस शुरू किया है. 

दरअसल, एक डॉक्टर का काम होता है लोगों की सेहत को सुधारना. ऐसे में वर्मी कम्पोस्ट से मिट्टी की सेहत सुधारने में मददगार है. यदि मिट्टी की सेहत सही होगी तो लोगों जैविक खानपान मिलेगा और इससे उनकी सेहत अपने आप ठीक हो जाएगी. 

कैसे तैयार करते हैं वर्मीकम्पोस्ट? (How to prepare Vermicompost?)

वर्मीकम्पोस्ट तैयार करने के लिए वे 30X4 का बेड तैयार करते हैं. उन्होंने 50 बेड से इस बिजनेस को शुरू किया था. आज उनके पास करीब 100 बेड हैं. प्रत्येक बेड में 15 क्विंटल गोबर लगता है, जिससे तक़रीबन 6 क्विंटल खाद का उत्पादन होता है.

वे गोबर पशुपालकों से खरीदते हैं. बेड बनाकर वे इसमें लगभग 30 किलो केंचुए डालते हैं, जिससे 15-20 दिनों बाद वर्मीकम्पोस्ट की पहली लेयर तैयार हो जाती है. दो से ढाई महीने बाद जब अंतिम लेयर बच जाती है तथा केंचुए बड़े हो जाते हैं तब वे इन केंचुओं का प्रयोग दूसरी बेड तैयार करने में करते हैं.

40 लाख का टर्नओवर (40 lacs turnover)

अपनी कमाई के बारे में डॉ. रिज़वान का कहना है कि यह किसानों के लिए फायदेमंद बिजनेस है. यदि 100 बेड के साथ बिजनेस शुरू किया जाए तो सालाना 40 से 45 लाख रुपए का टर्नओवर हो जाता है. यह एक फायदेमंद बिजनेस है. आज वे अपने आम के बगीचों और अन्य फसलों के लिए वर्मीकम्पोस्ट का प्रयोग करते हैं. इससे बेहतर उत्पादन लेने में मदद मिलती है.

English Summary: started vermi compost business after doctor's studies, today annual turnover of 40 lakhs

Like this article?

Hey! I am श्याम दांगी. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News