Success Stories

स्ट्रॉबेरी की खेती करके प्रति एकड़ 12 लाख रूपये तक कमा रहा है किसान

हरियाणा राज्य के रोहतक में रहने वाले एक किसान ने नौकरी को तवज्जो नहीं दी और खेती को ही फायदे का सौदा बना लिया है. सौदा भी ऐसा कि वे अन्य किसानों के लिए मिसाल पेश कर रहे है. आज हम बात कर रहे है सुनारियां गांव निवासी जिले सिंह. यहां पर स्र्ट्रॉबेरी की खेती करके ये प्रति एकड़ 12 लाख रूपये कमा रहे है. नए नजरिए से खेती करके अच्छी पैदावार को लेकर कृषि मंत्री धनखड़ भी सम्मानित कर चुके है.

किसानों के लिए मुनाफे का सौदा

अब से करीब 21 साल पहले सिंह ने यहां पर आधुनिक खेती को अपनाने का कार्य किया था. उन्होंने सरकारी लोन को लेकर कुल दो एकड़ में स्र्ट्रॉबेरी की खेती को लगाया है. तब से लेकर आज तक उन्होंने फिर कभी भी पारंपरिक खेती नहीं की है. उनका कहना है कि स्र्ट्रॉबरी की फसल लगाना शरू करने से पहले उनके परिवार में गरीबी थी और बड़ी ही मुश्किल से उनके परिवार का गुजारा हो पाता था. आज यह फसल उनके लिए काफी मुनाफे का सौदा बन गई है. शुरू में 11 एकड़ जमीन थी. आज वह बेटे के साथ स्र्ट्रॉबेरी की खेती को संभाल रहे है.

strawberies

मजदूरों को मिल रहा रोजगार

उन्होंने अपने खेतों में 30 से अधिक मजदूरों को रोजगार भी दिया है. किसान दीपक ने बताया कि उनके पिता जिले सिंह करीब 21 साल पहले पुणे में अपने दोस्तों के साथ घूमने गए थे. बाद में वापस आकर उन्होंने जिला बागवानी विभाग से संपर्क को स्थापित किया है और स्र्ट्रॉबरी की खेती को शुरू कर दिया है. इसका परिणाम यह हुआ कि उन्होंने सरकार से लिए हुए 10 लाख के लोन को महज तीन साल में ही उतार दिया है.

खुले में उगाते है स्र्ट्रॉबेरी

स्र्ट्रॉबेरी की फसल को खुले में वह उगाते है. किसान दीपक बताते है किवह सिंतबर में इसके पौधे लगाते है. जिन पर नवम्बर के महीने में फल लगते है. उन्होंने कहा कि पौधे को लगाने के एक महीने तक वह टपका सिंचाई करते है. यह तेजी से वृद्धि करता है. इसका टमाटर का पौधा भी छोटा होता है. अमेरीका के कैलीफोर्निया से यहां पौधे लाए जाते है. बागवानी विभाग का कहना है कि स्ट्रॉबेरी के उत्पादन में उनका परिवार काफी बेहतर कार्य कर रहा है.



English Summary: Farmer is becoming farmer with strawberry farming

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in