Rural Industry

कमाई का नया साधन बन रहा है एक्वेरियम, लागत भी नाम बराबर

बदलते हुए समय के साथ-साथ भारत में रंगीन मछलियों का व्यापार खूब फल-फूल रहा है. इस उद्योग से जहां एक तरफ शहरी लोगों को रोजगार मिल रहा है, वहीं ग्रामीण क्षेत्र के लोग भी लाभांवित हो रहे हैं. आज के दौर में रंगीन मछलियों को शीशे में रखने या एक्वेरियम में पालने का भी खूब चलन है.

ऑफिस के साथ-साथ कई लोगों को इन्हें अपने घरों में भी एक्वेरियम में रखने का शौक होता है. इसमें भी कोई दो राय नहीं कि ये मछलियां सभी लोगों के मन को मोह लेती हैं और इसके कई कारण भी हैं. आज के समय में लोगों में तनाव की शिकायत आम हो गई है. विशेषज्ञों के मुताबिक रंगीन मछलियों के साथ वक्त बिताने से मानसिक तनाव कम होता है.

एक्वेरियम में रंगीन मछलियों को पालकर आप कैसे अच्छा पैसा कमा सकते हैं, इस आर्टिकल में हम आपको यही बताने जा रहे हैं.

एक्वेरियम और सामग्री
एक्वेरियम के लिए आपको सबसे पहले पॉलिश किया हुआ शीशे की प्लेट चाहिए. इसके अलावा बल्ब लगा हुआ ढक्कन, टेबल और स्टैंड की जरूरत पड़ेगी. सीलेंट या पेस्टिंग गन और सजावट के लिए छोटे-छोटे रंग-बिरंगे पत्थरों का उपयोग कर सकते हैं. पानी को अधिक देर तक साफ रखने के लिए जलीय पौधों को खरीद सकते हैं.

एक्वेरियम की जगह
इसे आप अपने पसंद अनुसार कहीं भी रख सकते हैं. हालांकि इसे रखने की सबसे सही सुरक्षित जगह समतल और मजबूत भूमि ही है. किसी मजबूत मजबूत स्टैंड या टेबल पर भी इसे रखा जा सकता है. हां, बिजली की व्यवस्था का होना जरूरी है.

एक्वेरियम कैसा हो
एक्वेरियम पालिश वाले शीशे के प्लेट को सीलेंट से जोड़कर बनाया जा सकता है. आज के समय में इसकी अधिक मांग है. घरों में रखने के लिए एक्वेरियम का आकार 60 x 30 x 30 से.मी. (लम्बाई, चौड़ाई और उंचाई) होनी चाहिए. इस आकार को सबसे उपयुक्त माना जाता है. शीशे की मोटाई 2 से 6 मी.मी. की होनी चाहिए. सबसे जरूरी बात इसे ढकने के लिए फ़ाईबर या लकड़ी का उपयोग ही करें.

एक्वेरियम और सजावट
आप चाहते हैं कि आपका एक्वेरियम थोड़ा अधिक दाम में बिके तो आप इसे सजा भी सकते हैं. इसे सजाने के लिए अच्छी तरह पानी को साफ करने के बाद बालू की परत बिछा दें. उसके बाद ऊपर से छोटे-छोटे पत्थरों को बिखेर दें. आप चाहें तो थर्मोस्टैट, एयरेटर और फिल्टर का भी उपयोग कर सकते हैं.

एक्वेरियम और मछलियां
एक्वेरियम में कई तरह की रंग बिरंगी मछलियां पाली जा सकती हैं. लेकिन ध्यान रहे कि कई मछलियां प्राकृतिक तौर पर एक दूसरे की दुश्मन होती हैं, इस कारण विरोधी मछलियों को एक साथ न रखें. आप एक्वेरियम में ब्लैक मोली, प्लेटी, गप्पी, सोई टेल जैसी मछलियों को रख सकते हैं. गोरामी, फाइटर, एंजल, टैट्रा, बार्ब समेत गोल्ड फिश को भी रखा जा सकता है.



English Summary: you can earn good money by fish aquarium business know more about it

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in