1. ग्रामीण उद्योग

नाम मात्र पैसों में खोलें चाय की दुकान, सर्दियों में होगा भारी मुनाफा!

सिप्पू कुमार
सिप्पू कुमार
Tea

Tea

मौसम और व्यापार का गहरा संबध है. हर व्यापार पर मौसम का प्रभाव पड़ता है. जबकि कुछ व्यापार तो पूरी तरह मौसम पर ही आधारित होते हैं. आज हम आपको जिस व्यापार के बारे में बताने जा रहे हैं, वो मौसमी तो नहीं है, लेकिन सर्दियों के दिनों में उसमें कमाई कई गुणा बढ़ जाती है. दरअसल आज हम आको चाय के बिजनेस के बारे में बताने जा रहे हैं. ये ऐसा काम है जो बहुत कम पैसों में भी अगर आप चाहे, तो शुरू कर सकते हैं.

इस बिजनेस में मुनाफा हर तरफ है. ग्रामीण भारत के जहां चौक-चौराहों पर चाय की थड़ी पर मंडली बैठती है, वहीं शहरों में युवाओं की भीड़ टी शॉप या टी पॉइंट पर जाना पसंद करती है. खैर, चाय की मांग तो दोनों ही जगह है. वैसे भी इन दिनों पूरे उत्तर भारत में कंपकंपी वाली ठंड पड़ रही है, जिसका सीधा संबध चाय व्यापार के मुनाफे से है.

चाय की मांग

आंकड़ों पर गौर करें तो पाएंगें कि चाय पीने में भारत का स्थान दुनिया में सबसे ऊपर है. हमारे यहां देश के 88 प्रतिशत गृहस्थ आबादी (टी बोर्ड ऑफ़ इंडिया के अनुसार) चाय पीना पसंद करती है, जबकि हर ऑफिस में भी चाय की मांग है. ऐसे में आप अंदाजा लगा सकते हैं, कि इस व्यापार में कमाई की संभावनाएं हैं.

क्षेत्र का चनाव

अगर आप इस काम को करना चाहते हैं, तो कोई भी भीड़ वाली जगह चुन सकते हैं. भीड़ ही इस व्यापार में पैसा है. इसलिए ठेला या दुकान वहीं खोले जहां आम तौर पर भीड़ का आना-जाना हो, जैसे- रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, कॉलेज कैंटिन आदि.

अगर भीड़ वाली जगह अगर किसी के अधिकार क्षेत्र में है, तो वहां के स्थानीय प्राधिकरण से मंजूरी लेकर इस काम को शुरू कर सकते हैं. हो सकता है कि इसके लिए आपको मासिक या दैनिक कुछ किराया देना पड़े.

मूल संसाधन

इस काम को करने के लिए आपको बहुत अधिक संसाधनों की जरूरत नहीं है. आप कम संसाधनों में भी इस काम को आराम से शुरू कर सकते हैं. इसके लिए बस आपको गैस स्टोव एवं सिलिंडर, केतली और 10 से 12 गिलास चाहिए.

बैठने की जगह

अगर आपके दुकान या ठेले के आस-पास बैठने का प्रबंध हो सके, तो बहुत बढ़िया है. आप चाहें तो कुछ कुर्सियों का इंतेजाम कर सकते हैं और हल्के मनोरंजन के रूप में टीवी,संगीत या अखबार आदि लगवा सकते हैं. भीड़ को देखकर भीड़ आकर्षित होती है, इसलिए दुकान पर ग्राहकों का होना जरूरी है.

कुरकुरी मठरियां भी रखें

चाय व्यापार में कुरकुरी मठरियों का महत्व है. आप अपनी दुकान पर बिस्कुट, नमकीन और मठरियां भी रखें. अपनी दुकान का नाम कुछ नया और आकर्षक रखें. दुकान की अगर थोड़ी सजावट कर सकते हैं, तो ये बहुत अच्छा रहेगा. ध्यान रहे नयापन लोगों को प्रभावित करता है. हर कुछ महीनों में दुकान में कुछ न कुछ बदलाव करते रहें.

चाय बनाने के बिजनेस लाभ

इस काम को रणनीति के तहत अगर किया जाए, तो अच्छा मुनाफा हो सकता है. सबकुछ आपकी योजना और मेहनत पर निर्भर करता है. फिर भी औसत मुनाफे का अंदाजा लगाया जाए, तो आपको 25 से 35 हजार रूपए तक आमदनी हो सकती है.  

English Summary: this is how you can start your own tea shop and earn good profit know more about winters and tea business

Like this article?

Hey! I am सिप्पू कुमार. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News