1. ग्रामीण उद्योग

मुनाफे का सौदा है अचार का कारोबार

मेरी माँ बहुत अच्छा आम का अचार बनातीं हैं। खाने के साथ अचार खाने की शोभा बढ़ा देता है और माँ के हाथ का अचार खाकर सभी उनकी तारीफ के पुल बांधने लगतें हैं |

लेकिन मैं हमेशा सोचता हूँ कि उनकी इस प्रतिभा को ध्यान में रख कर उन्हें अचार का व्यापार करना चाहिए ताकि वह खुद अपने पैरों पर खड़ी हों और आत्मनिर्भर हो कर पैसे कमायें। एक दिन मैं उनके लिए ये जरूर करूँगा खेर ये तो बाद की बात है अब असली मुद्दे पर आतें है |

अचार उद्योग एक ऐसा उद्योग है जिसे महिला/पुरूष घर से ही और कम लागत पर शुरु कर सकतें हैं बैसे तो अचार का उपयोग भारत के हर घर में होता है | और कोई भी भारतीय भोजन अचार के बिना अधूरा है। और यह बहुत लोकप्रिय व्यंजन है।

घरेलू बाजार के अलावा, भारतीय अचार की विदेशो में भी बहुत मांग है। हमारे देश में अचार बनाने की विधि के तरीके 1000 प्रकार के होते हैं। 

जानकारी हांसिल करें :- 

सबसे पहले तो किसी अचार कारोबारी से मिलें और उससे बुनियादी जानकारी हांसिल करें जैसे कि अचार के लिए इस्तमाल होने वाला कच्चा माल क्या-क्या है और कहां से सस्ता प्राप्त हो सकता है | आप और भी काफी जानकारी प्राप्त कर सकतें है जोकि आपके व्यापार के लिए बहोत ही फायदेमंद साबित हो सकता है |

अच्छा अचार एक अच्छे व्यापार का नुस्खा :-

आप अचार के उद्योग में तभी सफल हो सकते हो जब आप के पास स्वादिष्ट अचार बनाने का अचूक नुस्खा हो आप किसी ऐसे व्यक्ति का चुनाव करें जो अचार बनाने में माहिर हो वह आप की दादी, नानी या पडोसी भी हो सकता है या फिर आप गूगल की मदद से कोई बहतरीन नुस्खा ढूंढ सकते हो |

बुनियादी ढांचा :-

अब आप को निर्णय लेना होगा की आप अपना काम छोटे स्तर  से शुरू करोगे जिसे घर से किया जा सके या आप को जगह किराये पर ले कर काम बड़े स्तर पर शुरू करना है | अचार बनाने के लिए किन-किन बर्तनों की जरुरत पड़ेगी, भंडारण के लिए बड़े-बड़े जार भी चाहिए इन सब में कुल कितना पैसा लगेगा, और पैसे का इंतजाम कैसे होगा इन सभी चीजों पर आप को काम करना है | और इस के अलावा सभी जरुरी सामान की लिस्ट बनायें और उस पर अमल करें |

कर्मचारियों का चयन :-

अचार उद्योग में आप अच्छी कमाई के साथ -साथ लोगों को रोजगार भी दें सकतें हैं आप अपनी आस-पड़ोस की महिलाओं को कर्मचारियों के तौर पर लें सकतें हैं, जो कम पैसों में अच्छा काम भी करतीं है और साथ में उन्हें अचार बनाने का भी अनुभव होता है |

अचार के प्रकार :-

आप को सिर्फ आम और निम्बू का अचार बनाना है या फिर और भी तरीकों कों आजमाना है | क्योंकि अचार कई तरह के होतें हैं जैसे की आमला अचार,  मिश्रित अचार,  गाजर का अचार,  नारियल अचार, लहसुन का अचार,  हरी मिर्च का अचार,  कटहल का अचार,  कच्चे आम का अचार, खट्टा मीठा नींबू का अचार, इमली का अचार आदि |

यहाँ हम केवल सबसे लोकप्रिय और व्यावसायिक रूप से सफल अचार की सूची दी है। हालांकि, यह अपने स्थानीय आबादी के स्वाद के अनुसार अचार बनाने का व्यवसाय शुरू करने की सलाह दी जाती है।

रिसाव प्रूफ पैकेजिंग :-

अगर अचार को ठीक से नहीं संभाला तो यह जल्दी ख़राब हो जाता है। इसे मार्किट तक ले जाने के लिए और हाईजीनिक रखने के लिए पैकिंग बहुत जरुरी है | अचार को प्लास्टिक के जार या पाउच मैं पैक करें जो लीक-फ्रूफ होतें हैं और यें मार्किट में भी आसानी से मिल जातें हैं | पैक करने से पहले सुनिश्चित करें कि कंटेनर साफ और शुष्क हों ।

अचार बाजार में उतारें :-

आप अपने अचार को किराना स्टोर पर दें सकतें हैं | रेस्तरां मालिक से बात करें या फिर ऑनलाइन स्टोर पर भी आप अचार को बेच सकतें है | एक बार आप के अचार का स्वाद लोगों तक पहुंच गया तो फिर आप को अचार का आर्डर  घर बैठे ही मिलने लग जायेगा।

English Summary: The trade of profits is the pickle trade

Like this article?

Hey! I am . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News