Rural Industry

किसान अपनी पसंद से खरीद सकेंगे दुकानों से सामान

छत्तीसगढ़ के किसानों के लिए अच्छी खुशखबरी है. जल्द ही छत्तसीगढ़ के किसान अब अपनी पसंद के मुताबिक पास की दुकान से कृषि संबंधी समानों को खरीद सकेंगे. सरकार सब्सिडी की राशि नकद या फिर समान के रूप में देगी. दरअसल इस बात की घोषणा राज्य के कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने की है. उन्होंने बजट के लेखानुदानों पर चर्चा करते हुए कहा है कि किसीन काफी चीजें तय कर सकेगा और उसे अपने लिए सारे फैसले लेने का अधिकार है. उन्होंने कहा है कि पहले राशि वेंडर केंद्रित होती थी लेकिन अब इस तरह से नहीं होगा.

कृषि बजट पर पूरा ध्यान

किसान सामान की क्वालिटी और कंपनी के साथ वारंटी, गांरटी सब कुछ जांच परख कर सामान ले सकते है. इस मसले पर करीब छह घंटे से ज्यादा चली चर्चा पर 8139 करोड़ तीन लाख 53 हजार रूपये की अनुदान मांगों को पारित भी कर दिया गया है. मंत्री ने चर्चा के दौरान कहा कि बजट में कृषि के साथ सभी क्षेत्रों के बजट पर पर्याप्त ध्यान दिया गया है. कृषि के लिए कुल 6935 हजार करोड़ की राशि का प्रावधान किया गया है.

किसानों के वादे पूरे करेंगे

सदन में विपक्षी सदस्यों ने कहा है कि जनघोषणा पत्र में कर्ज माफी की घोषणा की थी लेकिन राज्य की सरकार किसानों का केवल अल्पकालीन कर्ज ही माफ करने का कार्य कर रही है. इस बात पर राज्य के कृषि मंत्री ने कहा है कि जनघोषणा पत्र का हर वादा पूरा करेंगे. कृषि मंत्री चौबे ने कहा कि आज जो सरकार में इतनी ज्यादा संख्या दिख रही है वह केवल किसानों के कारण ही है इसीलिए हम किसानों को बिल्कुल भी नाराज नहीं होने देंगे.

किसानों को नहीं मिला कर्जमाफी का एनओसी

विपक्ष ने सदन में किसानों की कर्जमाफी का मुद्दा उठाया तो कृषि मंत्री चौबे ने कहा कि किसानों को कर्जमाफी का एनओसी न मिलने की वजह सभी अच्छी तरह से जानते है. उन्होंने समझाया कि जब सदन में विनियोग विधेयक पास हो जाएगा तो पैसा अपने आप बैंक के खातें में चला जाएगा.



Share your comments