MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. ग्रामीण उद्योग

Seed Production Business: बीज उत्पादन में है ज्यादा फायदा, इस तकनीक को अपनाकर किसान कमा सकते हैं डबल प्रॉफिट

Seed Production Business: फसल उत्पादन में बीज काफी अहम होता है. जीतना अच्छा बीज होगा, उतनी ही अच्छी फसल भी होगी. ऐसे में फसल उत्पानद की जगह किसान बीच अत्पादन से अच्छा प्रॉफिट कमा सकते हैं. हालांकि, इसके लिए कुछ बातों को ध्यान में रखना होगा.

बृजेश चौहान
बीज उत्पादन से कमाएं अच्छा मुुनाफा. (Image Source: Freepik)
बीज उत्पादन से कमाएं अच्छा मुुनाफा. (Image Source: Freepik)

Seed Production Business: किसानी में फसल की उत्पादनता बढ़ाने के लिए सबसे महत्वपूर्ण और कम लागत वाला निवेश बीज है. किसानों के लिए अच्छी गुणवत्ता के बीज एक आवश्यक निवेश है. उत्कृष्ट गुणवत्ता वाले बीजों का उपयोग कृषि क्षेत्र में सफलता की कुंजी है और यह खेती की कुल लागत का एक छोटा सा हिस्सा है. अगर खराब गुणवत्ता के बीजों का उपयोग किया जाता है, तो किसान की मेहनत और पैसा व्यर्थ जाते है. किसानों की कमाई बढ़ाने में बीज का एक महत्वपूर्ण योगदान होता है. जितनी अच्छी गुणवत के बीज होंगे, उतनी ही अच्छी आपकी फसल होगी.     

बीज उत्पादन से करें अच्छी कमाई

यदि किसान अपनी फसल को अनाज के रूप में नहीं उगाकर उसे बीज के रूप में तैयार करता है, तो उसे अधिक मुनाफा मिल सकता है. बीज उत्पादन के लिए केंद्र सहित राज्य सरकारें किसानों की सहायता करती हैं. सरकार किसानों को बीज उगाने की तकनीक, समय-समय पर देखभाल और वैज्ञानिक सलाह भी प्रदान करती है.  

बीज खरीदते समय इन बातों का रखें ध्यान

आईसीएआर के मुताबिक, बीज फसल को उगाने के लिए बीज को किसी प्रमाणित संस्था से प्राप्त करना आवश्यक है, जिसमें जेनेटिकली पवित्र और अन्य महत्वपूर्ण गुणवत्ता विशेषज्ञता हो. बीज को खरीदते समय वैलिडिटी पीरियड की जांच जरूर करें और खरीदे गए बीज-बैग के टैग और सील का संरक्षण सुनिश्चित रखें. 

बीजजनित रोगों और कीटों से बचने के लिए कीटनाशकों का उपयोग करें. दलहनी फसलों के बीजों पर राइझोबियम कल्चर लगाएं, जो एक प्राकृतिक जैव उर्वरक जीवाणु होता है. यह फसलों में नाइट्रोजन स्थिरीकरण का काम करता है. कठोर बीज को मुलायम बनाने के लिए उन्हें पानी में भिगोना चाहिए.

ऐसे करें बीच की बुवाई

बीज उत्पादन के लिए लाइन में बुआई के लिए एक साफ सीडड्रिल का इस्तेमाल करना चाहिए. छोटे बीज फसलों/खरीफ फसलों/ गीली मिट्टी में उथली गहराई और बड़े बीज फसलों/रबी फसलों/ सूखी मिट्टी में गहराई में बोना चाहिए. बीज फसल को उसकी आवश्यकतानुसार सिंचित करना चाहिए. रोपण के समय अच्छा और एक समान अंकुरण सुनिश्चित करने के लिए सिंचाई जरूरी है, ताकि उसका विकास हो सके.

खरपतवार पर रखें नियंत्रण

बीज को खरपतवार से मुक्त रखने के लिए, खेत में बीज की प्रतिस्पर्धी हराई या खरपतवारनाशी का इस्तेमाल करना आवश्यक होता है. किसी भी स्थिति में हमेशा खरपतवार से पौधों में फूल/बीज के विकास को रोकना चाहिए. जब बीज फसल को कीटों और रोगों का संक्रमण होता है, तो बीजों की गुणवत्ता और उत्पादन में कमी होती है. इसलिए, हमेशा सिफारिशों के अनुसार उचित समय पर पौध संरक्षण के उपाय को अपनाना चाहिए.

फसल कटाई का भी रखें ध्यान

बीजों में नमी की मात्रा कटाई के समय को निर्धारित करने में एक प्रमुख तत्व होती है. कटाई के दौरान त्वरित काटने से भीगी हुई बीज मिलता है. विपरीत रूप से, धीमी कटाई से बीजों की अंकुरण क्षमता, प्राण और प्राणशक्ति में कमी हो जाती है. थ्रेसिंग से पहले और बाद में फर्श को साफ करना चाहिए और कटाई के समय बीजों में नमी की मात्रा कम होनी चाहिए, जो बीजों को क्षति से बचाने में आवश्यक होती है.

English Summary: Seed Production Business There is more profit in seed production farmers can earn double profit by adopting this technology Published on: 12 November 2023, 05:40 PM IST

Like this article?

Hey! I am बृजेश चौहान . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News