Rural Industry

कम पूंजी में बड़ी आमदनी के लिए करें नमकीन उद्योग

भारत के किसी भी राज्य में चले जाइए, वहां के लोग खाने-पीने के बहुत शौकिन हैं और बात जब नमकीन की हो तो कहना ही क्या. हमारे देश में नमकीन के प्रति लोगो की दिवानगी इसी बात से समझी जा सकती है कि 25 प्रतिशत सीएजीआर रफतार से यह ग्रो कर रहा है. वैसे शादी हो या जन्मदिन या हो कोई पार्टी, साल का कोई भी महीना ऐसा नहीं होता, जब नमकीन की मांग ना हो. कोई मेहमान आ जाए तो सबसे पहले चाय नमकीन का ही नाशता कराना आज़ भी शिष्टाचार है.

रा मटैरियल

नमकीन के सैंकड़ों प्रकार हैं, अब यह आप पर निर्भर करता है कि आप किस तरह की नमकीन बनाना चाहतें हैं. वैसे मूल रूप से नमकीन बनाने के लिए मसाले, तेल और बेसन आदि की जरूरत पड़ती है, जो आसानी से मार्केट में कहीं भी मिल जाएगी.

कितना करना होगा इन्वेस्टमेंट

शुरूआत में आप छोटे स्तर से यह काम प्रारंभ करते हुए आसपास या मौहल्ले में सेल कर सकते हैं. जिसके लिए किसी मशीन की आवश्यक्ता नहीं है. आप घर के सदस्यों के साथ मिलकर ही किराने की दुकानों या घर-घर जाकर नमकीन बेच सकते हैं. बाद में मुनाफा होने पर 50 से 60 हज़ार के बीच का इन्वेस्टमेंट प्रयाप्त है.

अगर आप चाहें तो काम में मदद के लिए दो चार वर्कर भी रख सकते हैं और अपने उत्पाद को एफएसएसएआई में रजिस्ट्रेशन भा कर सकते हैं. इससे आपके उत्पाद को जहां एक तरफ विशेष पहचान मिलेगी, वहीं आपको भी मुनाफा ज्यादा होगा.



Share your comments