1. विविध

Immunity Boosting Foods: गुलकंद है इम्यूनिटी बूस्टर, जानें बनाने की विधि और सेवन के फायदे

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
गुलकंद

गुलकंद का नाम बहुत कम लोगों ने सुना होगा. यह एक खुशबूदार और मीठे खाद्य पदार्थ है. यह देखने और खाने में जितना अच्छा लगता है, उतना ही खुशबूदार भी होता है. इसका इस्तेमाल कई तरह से किया जाता है. इसका सेवन स्वास्थ्य समस्या में काफी राहत देता है. आइए आपको बताते हैं कि आखिर गुलकंद क्या है और यह किस तरह बनाया जाता है.  

क्या है गुलकंद?

इसको गुलाब के फूल की ताजी पंखुड़ियों से बनाया जाता है, इसलिए इसको गुलकंद को गुलाब से बनी पंखुड़ियों का मुरब्बा भी कहा जाता है. इसका सेवन गर्मियों में किया जाता है, ताकि शरीर को ठंडक मिल सके. यह खाने में मीठा होता है, साथ ही अच्छी सुगंध आती है.  

gulkand

ऐसे बनता है गुलकंद

गुलाब के फूलों की ताजा पंखुड़ियों को शहद या शक्कर के साथ मिलाकर गुलकंद बनाया जाता है. बता दें कि जब गुलाब की पंखुड़ियों को शुगर में मिलाते हैं, तो लगभग 2 या 3 दिन के लिए हल्की धूप में रख देते हैं. इस तरह शुगर और गुलाब की पंखुड़ियों का प्राकृतिक पानी मिलकर एक स्वादिष्ट पेस्टी फूड तैयार हो जाता है. इसको गुलकंद कहा जाता है.

कोरोना काल में गुलकंद के सेवन के फायदे

गुलकंद में मिक्स शहद या शुगर का सीमित मात्रा में सेवन करने से शरीर में ग्लूकोज की कमी नहीं होगी और आप खुद को ऊर्जावान महसूस करेंगे.

ये खबर भी पढ़े: पीलिया के लक्षण और उससे बचने के घरेलू उपचार

gulkand

गुलकंद के सेवन से होने वाले फायदे  

  • गुलकंद का सेवन इम्यूनिटी बढ़ाता है.

  • यह शहद या शुगर से बनाया जाता है, इसलिए इसके सेवन से शरीर में ग्लूकोज की कमी नहीं होती है.

  • वजन घटाने के लिए

  • आंखों के लिए

  • थकान और मानसिक तनाव में लाभदायक

  • त्वचा के लिए

  • हृदय को बनाता है स्वस्थ

हमारा यह लेख केवल सामान्य जानकारी पर आधारित है. इसको अपनाने से पहले एक बार अपने डॉक्टर  सलाह जरूर लें.

English Summary: Method of making Gulkand and benefits

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News