Others

रोज खाते हैं मोदी 30 हजार रूपये किलो वाली मशरूम, 65 की उम्र में रोज करते हैं 16 से 18 घंटे काम...

65 साल की उम्र। फिर भी जवानों जैसी उर्जा। हर दिन औसतन 16 से 18 घंटे काम। आखिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सेहत का राज क्या है। बहुत उत्सुकता से इस सवाल का जवाब जानने वालों की जिज्ञासा यह खबर शांत करने जा रही। प्रधानमंत्री मोदी हिमांचल प्रदेश में पैदा होने वाली विशेष किस्म की मशरूम का स्वाद लेते हैं।इस मशरूम का वैज्ञानिक नाम है माकरुला एक्स्यूलेंटा। यह सब्जी इतनी महंगी है कि बाजार में 25 से 30 हजार रुपये किलो बिकती है। इस सब्जी का सेवन करने की बात मोदी खुद सार्वजनिक कर चुके हैं। 

हिमांचल प्रदेश गए थे, तब से जीभ को लगा स्वाद

पूर्व में हिमांचल प्रदेश प्रभारी होने पर वहां के दौरे के दौरान नरेंद्र मोदी को पहली बार मशरूम की सब्जी परोसी गई थी, तब से उन्हें वह सब्जी भा गई। इसके बाद वे गुजरात लौटे तो उनके आर्डर पर हिमांचल प्रदेश से मशरूम आने लगा। शायद ही ऐसा दिन हो, जब उनकी थाली में यह सब्जी न सजती हो। पत्रकारों से बातचीत में वे खुद बता चुके हैं कि उनकी अच्छी सेहत का राज हिमांचल प्रदेश का मशरूम है। जिसमें औषधीय गुण भरे पड़े हैं। 

जंगलों में मिलती है यह मशरूम

यह मशरूम आम मशरूम से अलग होती है। हिमांचल की पहाड़ियों में ही पैदा होती है। लोग जंगलों मे इसका पता लगाने के लिए भटकते रहते हैं। महंगी होने के कारण कई दिन की खोज के बाद कुछ मशरूम मिल पाती है। स्थानीय लोग इसे पांच से 8 से 15 हजार रुपये में बाहरी व्यापारियों को बेचते हैं। व्यापारी बाहर की बाजारों में इसे आसानी से 25  से 30 हजार रुपये किलो में बेचते हैं। 

विदेशों में है काफी मांग

हिमांचल प्रदेश की मशरूम की खूबियों से विदेशी भी वाकिफ हैं। यही वजह है कि यूरोप के कई देशों में हिमांचल प्रदेश की मशरूम का उत्पादन होता है। 



English Summary: Daily accounts are Modi's Mushroom 30 thousand rupees, everyday at the age of 65, 16 to 18 hours work.

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in