News

राशन कार्ड से मुफ्त में मिलता है गेहूं और चावल, जानें 1 जून से नियमों में किस तरह का होगा बदलाब

कोरोना और लॉकडाउन ने जीवन को पूरी तरह से बदलकर रख दिया है. देश की अर्थव्यवस्था पर इसका गहरा प्रभाव पड़ा है. इसके साथ ही कृषि, किसान, गरीब मजदूर समेत आम लोगों के जीवन को भी काफी प्रभावित किया है. लॉकडाउन की अवधि लगातार बढ़ने से सभी प्रकार की गतिविधियां ठप पड़ी हैं. इसी कड़ी में 25 मार्च को लगाया गया लॉकडाउन का चौथा चरण 31 मई को खत्म होने वाला है. ऐसे में एक जरूरी खबर है कि 1 जून से राशन कार्ड, एलपीजी सिलेंडर, पेट्रोल, रेलवे, विमान सेवा के नियमों में कई तरह का बदवाल हो जाएंगे.

1 जून को बदलने वाले नियम

सरकार की वन नेशन वन राशन कार्ड की योजना 1 जून से देशभर के 20 राज्यों में लागू हो जाएगी. तो वहीं एलपीजी सिलेंडर के दाम में भी बदलाव होगा. कई राज्यों में पेट्रोल-डीजल के दाम पर वैट भी बढ़ सकता है. इससे तेल के दाम भी बढ़ जाएंगे. इसके अलावा रेलवे 200 नई यात्री मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों की शुरुआत करने जा रही है. इतना ही नहीं, यूपी रोडवेज की बस चलना भी शुरू हो जाएंगी और एयरलाइंस कंपनी गो एयर भी अपनी सेवा एक फिर शुरू कर देगा. 1 जून से नियमों में भाले बदलाव हो जाए, लेकिन सरकार की अपील यही है कि सभी लोग जहां हैं वहीं सुरक्षित रहें. यूपी सरकार ने कहा भी है कि लोग जिस राज्य में फंसे हैं, उन्हें उसी राज्य की सरकार राशन उपलब्ध कराएगी. ऐसे में इस वक्त राशन कार्ड की अहमियत बढ़ जाती है. आइए आपको राशन कार्ड संबंधी कुछ विशेष जानकारी देते हैं.

राशन कार्ड है महत्वपूर्ण दस्तावेज़

राशन कार्ड बहुत महत्वपूर्ण दस्तावेज़ होता है. यह दुकानों या राशन डिपो से सामान खरीदने में मदद करता है. राशन कार्ड राज्य सरकार द्वारा सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत वितरित किया जाता है, जो कि एक पहचान पत्र का भी काम करता है. सभी जानते हैं कि देश में कोरोना और लॉकडाउन की वजह से कैसी स्थिति बनी हुई है. कई गरीब और ज़रूरतमंद लोग आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं. कई लोगों के पास दो वक्त की रोटी खाने के लिए भी पैसा नहीं है. ऐसे में सरकार द्वारा उन्हें मुफ्त राशन उपलब्ध कराया जा रहा है. यह सिर्फ राशन कार्ड की वजह से मुमकिन हो पाया है.

कहां-कहां उपयोग होता है राशन कार्ड

  • राशन की दुकान

  • बैंक अकाउंट खुलवाने में

  • स्कूल-कॉलेज में

  • कोर्ट और कचेहरी में उपयोग

  • वोटर आईडी बनवाने के लिए

  • सिम कार्ड खरीदते समय

  • पासपोर्ट और ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए

  • एलपीजी कनेक्शखन लेते समय

  • सरकारी और निजी कार्यालयों में

राशन कार्ड के प्रकार

  • सबसे गरीब परिवार के लिए अंत्यो दक (Antodaya)

  • गरीबी रेखा से नीचे वाले लोगों के लिए बीपीएल (BPL)

  • गरीबी रेखा के उपर वालों के लिए एपीएल (APL)

राशन कार्ड के रंग

इसको हर राज्य अपने हिसाब से पीले, गुलाबी, हरे और सफेद आदि रंगों में बनाती है. इसके अलावा नीला राशन कार्ड कैरोसिन लेने के लिए बनता है. यह एक यूनिफॉर्म रंग है, जो कि देश के सभी राज्यों में फॉलो होता है.

ये खबर भी पढ़े: Small Business Idea: गांव के युवा कम निवेश में शुरू कर सकते हैं ये 3 बिजनेस, रोजाना होगा अच्छा मुनाफ़ा

राशन कार्ड के लिए जरुरी दस्तावेज़

  • परिवार के मुखिया की वोटर आईडी

  • 3 पासपोर्ट साइज फोटो

  • एड्रेस प्रूफ

  • आधार कार्ड नंबर, वोटर आईटी,

  • पहचान पत्र

  • बिजली या पानी का बिल

  • आधार कार्ड की फोटोकॉपी

  • पैन कार्ड की फोटो कॉपी

  • निवास प्रमाण पत्र

राशन कार्ड के लिए योग्यता

  • भारत का नागरिक होना चाहिए.

  • मुखिया की तरफ से परिवार का अन्य सदस्य आवेदन कर सकता है.

  • पहले से किसी भी राशन कार्ड में नाम नहीं होना चाहिए.

  • परिवार के सभी सदस्य का पहचान प्रमाण होना अनिवार्य है.

उपयुक्त शर्तों को पूरा करने वाले नागरिक को ही सरकार द्वारा राशन कार्ड उपलब्ध कराया जाता है.

ये खबर भी पढ़े कृषि यंत्रों पर सब्सिडी लेने के लिए 15 जून तक करें आवेदन, जानें क्य़ा हैं शर्तें



English Summary: Wheat and rice are available free of cost from ration card, learn how the rules will change from June 1

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in