1. ख़बरें

चंपारण के बाजार में पहुंचा एफपीयू निर्मित मसाले वाले पैकेट

वैसे  तो लॉक डाउन की वजह से किसानों को अपने फसलों के अच्छे मूल्य नहीं मिल रहे. उनको भारी नुकसान हो रहा है. लेकिन इसी बीच जिले में फार्मर प्रोड्यूसर कंपनी. जो खास करके जिले के संग्रामपुर, हरसिद्धि, पहाड़पुर और अन्य ब्लॉक में सक्रिय हैं. किसानों के लिए नई उम्मीद का किरण बनकर उभरे हैं. किसानों की समस्या को देखते हुए जिला के कृषि विभाग के परियोजना निदेशक आत्मा के माध्यम से जिले में कार्य फार्मर प्रोड्यूसर कंपनी को सक्रिय करने में जुटे हैं.

आत्मा के सभी पदाधिकारियों के सक्रिय सहयोग और जिले के सभी प्रोडूसर कंपनियों के साथ बैठक कर टीम का गठन किया गया है. किसानों के पास जाकर उनके फसलों को खरीद कर उचित मूल्य दे रहे हैं. 64 अलग-अलग रूप जो अलग-अलग उत्पादन करते हैं और हजार से ऊपर प्रगतिशील किसान जुड़े हैं. इन सब मसालों के ऊपर प्रोसेसिंग प्लांट का भी निर्माण किया गया है. जो लहसुन, मक्का, अदरक, हल्दी, धनिया, मंगरेल ऑल आदि पर आधारित है और इनके प्रोसेसिंग कर पैकेट में बंद कर अच्छे ब्रांडिंग के साथ बाजार में उपलब्ध कराए जा रहे हैं. उनकी शुद्धता और उच्च क्वालिटी होने के कारण इनकी अच्छी खासी डिमांड हो रही है और अपने बाजार में एक धाक जमाते जा रहे हैं.

यहां के किसानों के लिए एक उम्मीद की किरण के रूप में उभर रहा है.  जो अब फार्मर प्रोड्यूसर कंपनी का कांसेप्ट जो है, किसानों के लिए वरदान साबित होते जा रहा है. अन्य फसलों और और फलों के ऊपर भी कई कंपनीज बैठेंगे और प्रोसेसिंग प्लांट बनाकर इनके उत्पाद सीधे मार्केट में भेजने की व्यवस्था होगी और सरकार का भी सपोर्ट मिलेगा. किसान इन उत्पादों का बेहतर ब्रांडिंग और मार्केटिंग कर इसको एक अच्छे ब्रांड के रूप में स्थापित कर सकते हैं ताकि किसानों को और अच्छी मूल्य मिल सके और उनके शेयर का भी लाभ किसानों को मिले. 

ये खबर भी पढ़े: Jan Dhan Yojna : इस योजना के तहत प्राइवेट बैंक में भी खुलवा सकेंगे अब अकाउंट, मिलने लगेगा सरकारी योजनाओं का लाभ !

English Summary: FPU manufactured spice packets reached the market in Champaran

Like this article?

Hey! I am रत्नेश्वर तिवारी. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News