1. ख़बरें

उत्तर प्रदेश के किसानों को मिल रहा अनुदान पर कृषि यंत्र, जानिए कहां करना है आवेदन

देश में किसानों को लाभ देने के लिए कई प्रकार कि योजना शुरू की जाती है. इस तरह की योजना केंद्र और राज्य दोनों की तरफ से अलग-अलग निकाली जाती है. इसी क्रम में उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा किसानों के लिए इन सीटू मैनेजमेंट ऑफ क्राप रेज्ड्यू योजना की शुरुआत की है. इस योजना के तहत किसानों को लाभान्वित करते हुए उन्हें विशिष्ट कृषि यंत्रों पर 50 से 80 प्रतिशत तक का अनुदान दिया जाएगा. किसान इसकी बुकिंग आज से कर सकते हैं क्योंकि इनकी बुकिंग पांच अगस्त से शुरू हो चुकी है. इससे किसानों के लिए कृषि यंत्रो की खरीद के लिए सुनहरा मौका दे रही है.

योजना के अंतर्गत कई तरह कि कृषि यंत्रो पर सब्सिडी दी जा रही है जिसमें सुपर स्ट्रा मैनेजमेंट सिस्टम, हैप्पी सीडर, सुपर सीडर, जीरो टिल सीड कम फर्टी ड्रिल, श्रब मास्टर, पैडी स्ट्रा चापर, श्रेडर, मल्चर, रोटरी स्लैशर, हाइड्रोलिक रिवर्सिबुल एमवी प्लाऊ, बेलर, क्रॉप रीपर, स्ट्रा रैक, रीपर कम बाइंडर आदि कई अन्य प्रकार के कृषि यंत्र शामिल है. इसमें योजना का लाभ किसानों के लिए 50 से 80 प्रतिशत रखा गया है, जिसमें एक यंत्र की खरीद पर 50 और फार्म मशीनरी बैंक/कस्टम हायरिंग सेंटर की खरीद पर 80 प्रतिशत अनुदान दिया जाएगा.

ये खबर भी पढ़े: कृषि यंत्रों पर 50 से 80% तक की सब्सिडी पाने के लिए इस लिंक से करें आवेदन !

किसानों के लिए यह बुकिंग एंवं टोकन जेनरेशन आज पांच अगस्त सुबह 11 बजे से हो चुकी है और इसकी बुकिंग किसान www.upagriculture.com पर जाकर कर सकते हैं. किसानों को दस हजार तक के खरीद वाले कृषि यंत्रो पर रियायत दी गई और इसमें उन्हें कोई जमानत धनराशि देने की आवश्यकता नहीं है. वहीं किसानों को दस हजार से एक लाख तक वाले कृषि यंत्रो पर 25 सौ रुपए की धनराशि जमा करनी होगी. टोकन जेनरेशन के बाद प्राप्त चालान रशीद के माध्यम से निर्धारित जमानत धनराशि अपने नजदीकी यूनियन बैंक शाखा में जमा करें. वहीं किसान योजना से जुड़ी ज्यादा जानकारी के लिए जनपद के उप कृषि निदेशक से संपर्क कर सकते हैं.

English Summary: Uttar Pradesh govt is giving subsidy on farm equipment, check details

Like this article?

Hey! I am आदित्य शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News