1. ख़बरें

इस स्कीम के तहत कोविड-19 से पीड़ित लोगों का 50 हजार से लेकर 5 लाख तक का हो सकता है बीमा, पढ़ें पूरी खबर

Covid-19 insurance scheme

दुनिया में फैली कोरोना महामारी ने ज्यादातर देशों में लॉकडाउन करवा दिया है. जिसके चलते लोग घरों में  कैद हैं  और इस बीमारी से बचने के तरीके ढूंढें जा रहे हैं.क्योंकि यह वायरस बहुत खतरनाक है और इसके बचाव की प्रक्रिया बहुत ज्यादा महंगी है.तो ऐसे में आज हम आपको एक ऐसी नायाब बीमा स्कीम के बारे में बताएंगे.जोकि खासतौर पर कोरोना पॉजिटिव मरीजों के लिए  बनाई जा रही है.

जल्द शुरू होगी ये कोविड इंश्योरेंस स्कीम

इंश्योरेंस रेगुलेटर (IRDAI) ने सभी इंश्योरेंस कंपनियों को कोरोना सम्बंधित  फिक्सड बेनिफिट (Fixed Benefit) कोविड इंश्योरेंस (COVID Insurance)  लॉन्च करने को कहा हैं. सभी कंपनियों को इस बीमा स्कीम को 30 जून तक शुरू करने को कहा है. इसके अनुसार, किसी को भी कोविड पॉजिटिव होने पर एक निश्चित राशि (Fixed Amount) इंश्योरेंस कंपनियों के तरफ से दी जाएगी.

ये खबर भी पढ़े: PM-Suraksha Bima Yojana: सालाना 12 रूपये का प्रीमियम देने पर मिलेगा 2 लाख का बीमा, पढ़े पूरी खबर

crona

बीमा की प्रीमियम राशि

मीडिया में आई खबरों के मुताबिक,  IRDAI ने कोरोना वायरस के लिए बीमा स्कीम लांच करने के निर्देश दिया है. लेकिन इसका प्रीमियम (Premium) तय करने का फैसला कंपनियों को दे दिया है. इस स्कीम के तहत बीमाधारक को 50 हजार से लेकर 5 लाख तक सम-इंश्योर्ड (Sum Assured) का बीमा मिल सकता है. कोरोना संक्रमण को देखते हुए 15 दिन वेटिंग पीरियड का नियम लागू किया जाएगा.

कोरोना महामारी की वजह से इंश्योरेंस कंपनियों ने मौजूदा हेल्थ बीमा (Health Insurance) पर पहले ही 20 फीसद प्रीमियम राशि को बढ़ा दिया है.इसके साथ ही  टर्म इंश्योरेंस मामले में भी कंपनियों ने प्रीमियम राशि में बढ़ाया है. क्योंकि इंश्योरेंस कंपनी यह स्ट्रेटेजी अपनाती है अगर सालाना 10,000 लोग बीमा करवाते है तो उसमें से मुश्किल से 3 से 4 लोग ही किसी कारणवश मृत्यु का शिकार होते है.लेकिन इस कोरोना महामारी की वजह से मरने वालों की संख्या बढ़ने से बीमा कंपनियों पर काफी नुकसान हुआ है.

English Summary: Under this scheme, people suffering from covid-19 can have insurance from 50 thousand to 5 lakh, read full news

Like this article?

Hey! I am मनीशा शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News