1. ख़बरें

दो रुपये किलो में देना है तो दो, मूली टमाटर का नहीं है कोई खरीदार

KJ Staff
KJ Staff

टमाटर एवं मूली उत्पादक किसान परेशान हैं. परेशानी इस बात को लेकर है कि टमाटर का कोई खरीदार नहीं मिल रहा है. समस्तीपुर में हालात यह है कि मंडी में महज दो रुपये किलो टमाटर बेचने के लिए किसान मजबूर हैं. यही हाल मूली का भी है. मोतीपुर मंडी में प्रतिदिन आसपास के किसान सब्जी बेचने के लिए आते हैं. बताया जाता है कि एक रुपये किलो तो मंडी खर्चा ही किसानों को लग जाता है. एक रुपये टमाटर बेचकर उन्हें घर लौटना पड़ता है. यही हाल मूली का है. मूली की कीमत भी धड़ाम से गिर गई है. बताया जाता है कि ठंड के मौसम में मूली एवं टमाटर की बिक्री काफी कम रहती है.

इस बार टमाटर एवं मूली की उपज बेहतर रहने के कारण किसानों को बढि़या रेट नहीं मिल सका, जिससे किसान परेशान हैं. इस संबंध में गद्दीदार दशरथ सिंह, भाग्यनारायण साह, राजाराम महतो, कमलेश कुमार, ऋषिदेव आदि ने बताया कि अधिक मात्रा में गद्दी में टमाटर आने एवं व्यापारी सीमित रहने के कारण यह हाल है. कच्चा सौदा होने के कारण बाहर भेजना भी महंगा एवं कठिन है. मंडी में उपस्थित किसान ब्रह्मदेव प्रसाद सिंह और सुरेंद्र प्रसाद सिंह ने कहा कि टमाटर उत्पादक किसान के समक्ष भूखमरी की स्थिति है. उनकी पूंजी बर्बाद हो गई है. सरकार को इन किसानों की सुधि लेनी चाहिए.

English Summary: Two rupees is to be given in kg, then two, radish does not belong to tomato, no buyer

Like this article?

Hey! I am KJ Staff. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News