ये 19 चीजें आज से होगी महँगी, आपकी जेब करेगी ढीली

त्योहारी सीजन आने वाला है और यदि आप इंपोर्टेड फ्रिज, वॉशिंग मशीन, ज्वेलरी या फिर किचन का सामान खरीदने का प्लान बना रहे हैं तो आपकी जेब पर भारी बोझ बढ़ने वाला है। जी हां सरकार ने बुधवार को जेट ईंधन, एयर कंडीशनर और रेफ्रिजरेटर सहित कुल 19 वस्तुओं पर सीमा शुल्क बढ़ा दिया हैं। सरकार ने गैर आवश्यक वस्तुओं का निर्यात घटाने के लिए सरकार ने यह कदम उठाया है। सरकार के इस फैसले के बाद विदेश से आने वाले सामान महंगे हो जाएंगे. सरकार ने यह फैसला डॉलर के मुकाबले रुपए के गिरते भाव को देख कर लिया है. उम्मीद जताई जा रही है कि अब रुपए में मजबूती देखने को मिलेगी. इसके साथ ही करेंट अकाउंट डेफिसिट को भी काबू में रखा जा सकेगा. जिन अन्य वस्तुओं पर आयात शुल्क बढ़ाया गया हैं उनमें वॉशिंग मशीन, स्पीकर, रेडियल कार टायर, आभूषण उत्पाद, किचन और टेबलवेयर, कुछ प्लास्टिक का सामान और सूटकेस शामिल हैं.

मंत्रालय का कहना है कि केंद्र सरकार ने मूल सीमा शुल्क (बेसीक कस्टम ड्यूटी) बढ़ाकर शुल्क उपाय किए हैं. इसके पीछे उद्देश्य कुछ आयातित वस्तुओं का आयात घटाना है. इन बदलावों से चालू खाते के घाटे (करेंट अकाउंट डेफिसिट) को सीमित रखने में मदद मिलेगी. एसी, रेफ्रिजरेटर और वॉशिंग मशीन (10 किलो से कम) पर आयात शुल्क दोगुना कर 20 प्रतिशत कर दिया गया है. आयात शुल्क में ये बदलाव 27 सितंबर की मध्यरात्रि से लागू होंगे. करंट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई वाली सरकार ने आनन-फानन में ऐसा फैसला लिया है, जिसका आप पर व्यापक असर होने जा रहा है. सरकार ने जिन चीजों पर इम्पोर्ट ड्यूटी बढाई है वो निम्नवत है.

  • वाशिंग मशीनों के आयात पर बेसिक कस्टम ड्यूटी 10 फीसदी से बढ़ाकर 20 फीसदी कर दी गई।
  • रेफ्रिजरेटर्स पर बेसिक कस्टम ड्यूटी भी 10 फीसदी से बढ़ाकर 20 फीसदी कर दी गई।
  • सरकार ने एयर कंडीशनर्स पर बेसिक कस्टम ड्यूटी 10 फीसदी से बढ़ाकर 20 फीसदी कर दी।
  • इसके अलावा एयर कंडीशनर्स/फ्रिज के कंप्रेसर्स पर इंपोर्ट ड्यूटी में 10 फीसदी तक की बढ़ोत्तरी कर दी गई।
  • इससे साफ है कि इंपोर्ट होने वाले इन आइटम्स को खरीदने पर आपको लगभग 10 फीसदी ज्यादा रकम खर्च करनी होगी.
  • सोने और चांदी से बनी इंपोर्टेड ज्वैलरी पर कस्टम ड्यूटी 15 फीसदी से बढ़ाकर 20 फीसदी हो गई।
  • कट, पॉलिश्ड डायमंड्स पर कस्टम ड्यूटी 5 फीसदी से बढ़ाकर 5 फीसदी कर दी गई।
  • सेमी प्रोसेस्ड डायमंड्स पर कस्टम ड्यूटी 5 फीसदी से बढ़ाकर 50 फीसदी कर दी गई।
  • आर्टीफिशियल (लैब ग्रोन) डायमंड्स पर कस्टम ड्यूटी 5 फीसदी से बढ़ाकर 50 फीसदी कर दी गई।
  • कट, पॉलिश्ड कलर्ड जेमस्टोन्स पर कस्टम ड्यूटी बढ़ाकर 50 फीसदी कर दी गई।
  • प्रिसीयस मेटल ज्वैलरी पर कस्टम ड्यूटी 15 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी कर दी गई।
  • प्लास्टिक टेबिलवेयर/किचनवेयर कस्टम ड्यूटी बढ़ाकर 15 फीसदी कर दी गई।
  • ट्रैवल बैग, सूटकेस पर कस्टम ड्यूटी 10 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी कर दी गई।
  • स्पीकर्स पर कस्टम ड्यूटी 10 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी कर दी गई।
  • सरकार ने फुटवियर पर ड्यूटी 20 फीसदी से बढ़ाकर 25 फीसदी कर दी है।
  • रेडियल कार टायर्स पर कस्टम ड्यूटी 10 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी कर दी।
  • इसके अलावा सरकार ने एविएशन टरबाइन फ्यूल पर 5 फीसदी कस्टम ड्यूटी लगा दी है।

 

 

 

 

Comments