News

राजस्थान के बाद अब हिमाचल में घातक स्वाइन फ्लू !

हिमाचल के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की अगुवाई में हिमाचल प्रदेश में आयोजित एक बैठक में कहा गया कि राज्य में 270 में से 86 लोगों में स्वाइन फ्लू के लिए सकारात्मक परीक्षण किए गए हैं.

मंत्री ने स्वास्थ्य अधिकारियों को H1N1 वायरस की निगरानी और उस पर अंकुश लगाने के लिए प्रभावी कदम सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों को स्वाइन फ्लू के लक्षण, कारण और उपचार के बारे में जागरूक किया जाना चाहिए ताकि तत्काल और समय पर उपचार मुहैया कराया जा सके.

उन्होंने उल्लेख किया कि विशेष चिकित्सा टीमों को उन क्षेत्रों में भेजा जाना चाहिए जहां सबसे अधिक मामले दर्ज किए गए हैं.

ठाकुर ने स्वाइन फ्लू से पीड़ित लोगों के लिए की गई व्यवस्था के बारे में बोलते हुए कहा कि शिमला में इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज (IGMC) में 12 बेड का आइसोलेशन वार्ड स्थापित किया गया है और मौजूदा बुनियादी ढांचे में चार बेड का एक ICU जोड़ा गया है. उन्होंने कहा कि स्वाइन फ्लू वायरस के किसी भी अप्रत्याशित प्रभाव को पूरा करने के लिए IGMC में 8000 कैप्सूल का स्टॉक रखा गया है.

राजस्थान में स्वाइन फ्लू का प्रकोप जानलेवा साबित हुआ. जिससे राज्य में लगभग 76 लोग मारे गए. जोधपुर सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ. 27 जनवरी तक देश में स्वाइन फ्लू के 4571 और एच 1 एन 1 से 169 मामलों की पुष्टि हुई है.

राष्ट्रीय स्वास्थ्य योजना (इंग्लैंड में सार्वजनिक रूप से वित्त पोषित स्वास्थ्य योजना) के अनुसार, स्वाइन फ्लू के लक्षण हैं:

  • अचानक बुखार आना

  • शरीर में दर्द

  • थकान या थकावट महसूस होना

  • सूखी खांसी

  • गले में खराश

  • सरदर्द

  • सोने में कठिनाई

  • भूख में कमी

  • दस्त और पेट दर्द

  • मतली और उल्टी

ऐसी ही ख़बरों की लेटेस्ट अपडेट को पाने के लिए आप हमारी वेबसाइट से जुड़े रहे -

मनीशा शर्मा, कृषि जागरण



Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in