News

खरीफ सीजन के लिए बीज के दामों के साथ सब्सिडी में भी बढ़ोतरी

मध्य प्रदेश के बैतूल जिले के किसानों के लिए एक बड़ी खबर सामने आयी है. इस बार खरीफ सीजन के दौरान सरकार ने बीज के दाम बढ़ा दिए हैं. बीज के दाम के साथ सब्सिडी राशि में भी बदलाव किए गए हैं. सरकार सोयाबीन बीज (SOYABEAN SEED) पर प्रति क्विंटल 2000 रुपए की सब्सिडी दे रही है. पिछले साल यानी 2019 के मुकाबले इस बार 850 रुपए की बढ़ोत्तरी की गयी है.

इस तरह किसान 4650 रुपए प्रति क्विंटल की दर पर सोयाबीन के बीज खरीद पाएंगे. इसके साथ ही रिपोर्ट्स के मुताबिक 15 साल की अवधि वाले सोयाबीन के बीज पर ही किसान सब्सिडी का लाभ ले सकेंगे.

मक्का बीज के दाम भी बढ़े

सोयाबीन के साथ ही मक्का बीज (MAIZE SEEDS) की दर में भी 450 रुपए प्रति क्विंटल तक का इज़ाफ़ा किया गया है. साल 2020 में मक्का बीज की दर सरकार द्वारा 4200 रुपए प्रति क्विंटल रखी गई है. वहीं अगर सब्सिडी की बात करें तो SUBSIDY राशि को भी बढ़ाया गया है. पिछले साल (2019) के मुकाबले इस बार 1250 रुपए प्रति क्विंटल की राशि बढ़ाई गयी है. अब यह राशि 2100 रुपए कर दी गयी है. ऐसे में किसान 2100 रुपए प्रति क्विंटल की दर से बीज खरीद पाएंगे. ख़ास बात यह है कि 10 साल की अवधि वाले मक्का बीज पर ही ये दरें लागू की गयी हैं.

अन्य फसलों के बीज और सब्सिडी राशि में भी बदलाव

सोयाबीन और मक्का की तरह ही बाकी फसलों दरों के बीज के दामों में भी सरकार ने ख़ास बदलाव किए है. वहीं बीज की सब्सिडी राशि इसलिए बधाई गयी है जिससे परिस्थिति को देखते हुए किसानों को किसी भी तरह की समस्या का सामना न करना पड़े और उन्हें कुछ राहत मिल सके.

ये खबर भी पढ़ें: Amul ने लॉन्च किया तुलसी और अदरक वाला स्पेशल दूध, जानिए इसकी कीमत



English Summary: Subsidy hike along with seed prices for Kharif season

कृषि पत्रकारिता के लिए अपना समर्थन दिखाएं..!!

प्रिय पाठक, हमसे जुड़ने के लिए आपका धन्यवाद। कृषि पत्रकारिता को आगे बढ़ाने के लिए आप जैसे पाठक हमारे लिए एक प्रेरणा हैं। हमें कृषि पत्रकारिता को और सशक्त बनाने और ग्रामीण भारत के हर कोने में किसानों और लोगों तक पहुंचने के लिए आपके समर्थन या सहयोग की आवश्यकता है। हमारे भविष्य के लिए आपका हर सहयोग मूल्यवान है।

आप हमें सहयोग जरूर करें (Contribute Now)

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in