News

अनोखी पहल: महाराष्ट्र के छात्र-छात्राओं ने व्हाट्सऐप पर ग्रुप बनाकर जुटाए लाखों रुपए, पूरी राशि मुख्यमंत्री कोविड-19 कोष में की दान

दुनियाभर मेंकोविड-19 का खतरा मंडरा रहा है. अभी तक इस महामारी की चपेट में सभी देश आ चुके हैं. यह महामारी लाखों लोगों की जान ले चुकी है, तो वहीं कई लोग इसके संक्रमण से जंग लड़ रहे हैं. कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार द्वारा पूरे देश में लॉकडाउन लगाया गया है. मगर इस महामारी से अभी तक देश का बचाव नहीं हो पाया है. इस दौरान देश के नागरिक और सरकार को कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है. एक तरफ कई लोग बेरोजगार हो गए, तो कई गरीब और मजदूर लोग रास्ते पर आ गए. फिलहाल केंद्र और राज्य सरकार की तरफ से ऐसे लोगों की मदद करने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है. इतना ही नहीं, इस संकट की घड़ी में देश के कई बड़े उद्योग, बॉलीवुड सितारे, कंपनिया समेत हर वर्ग के लोगों ने सरकार की मदद की है. इसी कड़ी में महाराष्ट्र से एक बेहद सकारात्मक पहल सामने आई है.

दरअसल, महाराष्ट्र के डॉ.पंजाबराव देशमुख कृषि विद्यापीठ(Dr.Panjabrao Deshmukh Krishi Vidyapeeth) के पूर्व छात्र-छात्राओं ने एक साथ मिलकर मुख्यमंत्री कोविड-19 कोष में लगभग ढाई लाख रुपए की राशि दान की है. बता दें कि यह छात्र-छात्राएं 2006-10 EE सिरीज़ बैच के हैं, जो कि भारत के अलग-अलग विभागों में कार्यरत हैं.

इन सभी छात्र-छात्राओं ने व्हाट्सऐप पर एक ग्रुप बनाया, जिसके बाद इस अनोखी पहल को शुरू किया है. पहल में श्रीकृष्णा महाजन, अनंता डिगोले, निरंजन घोड़कि, गौरव चौधरी, किशोर वेरूलकर, आरती मस्केय और अमोल गड़ाक के अन्य साथी शामिल हैं. इन सभी छात्र-छात्राओं ने एक साथ मिलकर केवल 3 दिन में इतनी बड़ी राशि जुटाई है. इस अनोखी पहल के बाद अकोला में अन्य बैच के पूर्व विद्यार्थियों ने भी योगदान देना शुरू कर दिया है. अनोखी पहल के शुरू होने के बाद अनुमान लगाया जा रहा है कि इस तरह लगभग 20 से 25 लाख रुपए की राशि जुट पाएगी जिससे कई जरूरमंदों की मदद हो पाएगी.

ये खबर भी पढ़ें: PM Jan Aushadhi Center: इस योजना के तहत जन औषधि केंद्र खोलकर करें करोड़ों रुपए की कमाई, सरकार देती है 2.5 लाख रुपए की मदद



English Summary: Students of Maharashtra donated 2.5 lakh rupees to chief minister relief fund

कृषि पत्रकारिता के लिए अपना समर्थन दिखाएं..!!

प्रिय पाठक, हमसे जुड़ने के लिए आपका धन्यवाद। कृषि पत्रकारिता को आगे बढ़ाने के लिए आप जैसे पाठक हमारे लिए एक प्रेरणा हैं। हमें कृषि पत्रकारिता को और सशक्त बनाने और ग्रामीण भारत के हर कोने में किसानों और लोगों तक पहुंचने के लिए आपके समर्थन या सहयोग की आवश्यकता है। हमारे भविष्य के लिए आपका हर सहयोग मूल्यवान है।

आप हमें सहयोग जरूर करें (Contribute Now)

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in