News

कुछ ऐसा रहा एनएसएआई का 11वां एजीएम

यह तो सभी जानते हैं कि हमारा देश कृषि पर आधारित है| देश के एक बड़े हिस्से में खेती होती है| इस खेती में बीज कंपनियों की एक अहम भूमिका है| अच्छे बीजों के आधार पर ही किसानों को अच्छी फसल मिल पाती है, जिसमें यह कंपनिया किसानों को अच्छे और गुणवत्ता वाले बीज उपलब्ध कराती है| इन सभी कंपनियों को एकजुट रखने वाले संघ नेशनल सीड एसोसिएशन ऑफ़ इंडिया ने अपने  11वें एजीएम का आयोजन दिल्ली स्थित एनएएससी काम्प्लेक्स में किया| आईसीएआर के डायरेक्टर जनरल डॉ. त्रिलोचन महापात्रा और एनएसएआई के प्रेसिडेंट प्रभाकर राव ने दीप जलाकर इस एजीम की शुरुआत की| उसके बाद डॉ. कल्याण गोस्वामी, एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर एनएसएआई ने एनएसएआई के कार्यों पर प्रकाश डाला| इसके बाद एसोसिएशन के जनरल सेक्रेट्री, एएसएन रेड्डी ने सभी सदस्यों के सामने एक रिपोर्ट पेश की| इस रिपोर्ट में एनएसएआई की वित्तीय अवस्था, उपलब्धियों और अन्य क्रियाओं पर प्रकाश डाला  | एएसएन रेड्डी ने बताया कि इस वित्तीय वर्ष में एसोसिएशन की वित्तीय स्थिति में और इजाफा हुआ है| इसी के साथ इसके सदस्यों की संख्या भी बढ़ी है| वही दोस्सरी ओर प्रेसिडेंट प्रभाकर राव ने सीएसआर क्रियाओं पर ध्यान दिया| उन्होंने कहा की एसोसिएशन ने सीएसआर के तहत अलग-अलग तरीके से किसानों की मदद की है| वो फिर चाहे तो किसी आपदा से पीड़ित रहे हो या फिर किसी अन्य संसयं से पीड़ित रहें हो| प्रभाकर राव ने अन्य सदस्यों के द्वारा भी इस तरह की गतिविधियों में शामिल होने पर जोर दिया| डॉ.कल्याण गोस्वामी ने कहा कि एनएसएआई ने पिछले चार सालों में बहुत से सदस्यों को एनएसएआई के साथ जोड़ा है| उन्होंने कहा एनएसएआई के साथ आज चार सौ से अधिक सदस्य है| यह एसोसिएशन किसानों के हित में काम करने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है| इस एजीएम के दौरान नेशनल सीड एसोसिएशन ऑफ़ इंडिया के नए अध्यक्ष का चुनाव भी हुआ| चुनाव के लेकर इसकी रणनीति में कुछ बदलाव किये गए और एक चुनाव आयोग का गठन किया गया|



English Summary: Something like that is the 11th AGM of the NSAI

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in