News

छोटे व्यापारियों को मिलेगा 3000 रूपए मासिक पेंशन, जानिए क्या है प्रधानमंत्री कर्म योगी मानधन योजना

lalita

अगर आप कोई छोटा-मोटा व्यापार करते हैं एवं आपका काम जीएसटी के अंतर्गत पंजीकृत है, तो आप प्रधानमंत्री कर्म योगी मानधन योजना का लाभ उठा सकते हैं. छोटे व्यापारियों ( 1.5 करोड़ वार्षिक टर्नओवर तक के ) के लिए इस योजना को शुरू किया गया है, जिसका मुख्य लक्ष्य छोटे कारोबारियों, व्यपारियों एवं दुकानदारों को वृद्धावस्था में आर्थिक सहायता देना है.

इस योजना के अंतर्गत अगर कोई पंजीकरण कराता है, तो उसे 60 साल की उम्र के बाद से 3000 रूपये हर माह पेंशन दिया जाएगा. इसके लिए आवेदन ऑनलाईन माध्यम से ही करना होगा. ध्यान रहे कि आवेदनकर्ता की उम्र 18 से 40 के मध्य ही होनी चाहिए. चलिए आपको इसके बारे में बताते हैं.

ध्यान देने वाली बातें

इस योजना का लाभ सरकार द्वारा सीधे आपके खाते में आएगा. इसमें वही लोग आवेदन कर सकते हैं, जिनका व्यापार भारत में होता है. आवेदनकर्ता का बैंक खाता आधार से लिंक होना चाहिए.

ये खबर भी पढ़ें: गांवों में भी पैर पसार रहा है कोरोना, खेती-किसानी करते समय इन उपायों का करें पालन

kirana

इस तरह से करें आवेदन

प्रधानमंत्री कर्म योगी मानधन योजना का आवेदन ऑनलाइन ही लिया जाएगा, लेकिन इसके लिए पहले आपको अपने नजदीकी जन सेवा केंद्र से संपर्क करना होगा. आपको अपने सभी जरूरी दस्तावेज यहां सीएससी एजेंट के पास जमा करवाना है.जन सेवा केंद्र अधिकारी की सहायता से आपको ऑनलाइन फार्म भरना है. ध्यान रहे आपके द्वारा दी गई सभी जानकारी सही एवं सटीक होनी चाहिए. दस्तावेजों के अभाव में या उनके गलत होने पर आवेदन रद्द किया जा सकता है. आवेदन से पहले अपना बैंक खाता केवाईसी करवा लें, आधार को अपडेट करना जरूरी है. अगर आप पहले से किसी सरकारी योजना का लाभ उठा रहे हैं, तो आपसे इसकी जानकारी मांगी जा सकती है.

(आपको हमारी खबर कैसी लगीइस बारे में अपनी राय कमेंट बॉक्स में जरूर दें. इसी तरह अगर आज़  पशुपालनकिसानीसरकारी योजनाओं आदि के बारे में जानकारी चाहते हैंतो वो भी बताएं. आपके हर संभव सवाल का जवाब कृषि जागरण देने की कोशिश करेगा)



English Summary: small businessman will get pension under Pradhan Mantri Karma Yogi Maan Dhan Scheme 2020

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in