News

पढ़िए गीले कचरे से खाद बनाने का नायब तरीका...

यह जानकर आपको आश्चर्य होगा कि एक क्रिकेट मैदान की गीली मिट्टी से खाद बनाई जा रही है। दरअसल यह कार्य मध्य प्रदेश के होल्कर स्टेडियम में किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि इस खाद का उपयोग मैदान की हरियाली बढ़ाने में किया जाएगा। इस बीच एमपीसीए एवं नगर निगम के एकसाथ किए जा रहे इस प्रयास को खुद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने भी सराहना की है।

किसान भाइयों कृषि क्षेत्र की ज्यादा जानकारी के लिए आज ही अपने एंड्राइड फ़ोन में कृषि जागरण एप्प इंस्टाल करिए, और खेती बाड़ी से सम्बंधित सारी जानकारी तुरंत अपने फ़ोन पर पायें. (ऐप्प इंस्टाल करने के लिए क्लिक करें)

इस गीले कचरे से लगभग 120 किलो खाद तैयार की जा रही है। ज्ञात हो कि दो मैच के दौरान लगभग तीन हजार किलो कचरा मिला है। इस दौरान सूखा एवं गीला कचरा तैयार होता है। जिन डिब्बों में दर्शक खाना खाते हैं वह सूखा कचरा के अन्तर्गत आता है जबकि केले का छिलका आदि गीला कचरा के अन्तर्गत आता है।

बीसीसीआई का मानना है कि इस प्रक्रिया के माध्यम से खाद बनाने का कार्य काफी लंबे समय से किया जा रहा है। अभी फिलहाल 386 किलो कचरे से 90 किलो खाद बनाई जाएगी। इस तरह खाद बनाने में सात दिन का समय लगता है। पर्यावरण जागरुकता बढ़ाने के लिए देश भर में इसका प्रसार किया जाएगा। इस अभियान का सकारात्मक असर देखा जा रहा है, अब दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान में भी इस प्रकार खाद बनाए जाने के लिए तैयारी की जा रही है। आईपीएल का प्रचार कर रही कंपनी आईएमजी इसे देश भर के सभी स्टेडियम में शुरु करने की तैयारी में है।

यह भी पढ़ें : जानिए इस समय बढ़ते तापमान के साथ किस फसल की बुवाई की जाए, तो किस फसल को चाहिए देखभाल.

सूचना : किसान भाइयों अगर आपको कृषि सम्बंधित कोई भी जानकारी चाहिए, या आपके साथ कुछ गलत हुआ है, जिसे आप औरों के साथ साझा करना चाहते है तो कृषि जागरण फोरम में रजिस्टर करें.



English Summary: Read the nude way of making manure from wet waste ...

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in