वायु प्रदूषण से होने वाली समस्या और समाधान

वायु प्रदूषण इन दिनों देश की राजधानी दिल्ली के लिए सबसे बड़ी समस्या बना हुआ है। इस गंभीर समस्या से निजात पाने के लिए सरकार और कोर्ट दोनों ही अलग-अलग हथकंडे भी अपना रहे है लेकिन फिर भी इस समस्या से निजात नहीं मिल पा रहा है। बता दें कि धुंए और धुंध की चादर ने इन दिनों पूरे दिल्ली एनसीआर को अपनी गिरफ्त में ले लिया है। जिसका सीधा असर लोगों के सेहत पर देखने को मिल रहा है। इस प्रदूषण का प्रभाव वयस्क लोगों के अपेक्षा बच्चों और बुजुर्गों पर कुछ ज़्यादा पड़ रहा है। यहीं नहीं दिनों-दिन खराब होता वातावरण गर्भ में पल रहे बच्चे को भी प्रभावित कर रहा है। एक अनुमान के मुताबिक भारत में प्रदूषण की वजह से हर साल लगभग एक लाख़ बच्चों की मौत हो जाती है। तो आइए आज हम आपकों इस गंभीर समस्या से बचने और होने वाली समस्या के बारे में बताते है-

होने वाली समस्याएं

बोस्टन में हुए एक स्टडी के मुताबिक, जब 8 से 11 साल की उम्र के 202 बच्चों पर सर्वे किया गया जो कि मोटर वाइकल्स के धुएं के संपर्क में रह रहें थे। सर्वे में सामने आया की इन बच्चों का आई.क्यू. लेवल (सोचने समझने और सीखने की शक्ति) सामान्य बच्चों के अपेक्षा कमजोर थी

1. बच्चों को होने वाले अन्य रोगों में हैं- फेफड़ों का कम विकसित होना, निमोनिया, ब्रांकाइटिस और दमा (अस्थमा)।

2. युवाओं को होने वाले रोगों में है- दमा, फेफड़े का कैंसर और फेफड़ों या फुफ्फुस द्वारा सांस लेने में दिक्कत।

3. बुजुर्गों में दमा, सांस नली के संक्रमण का बार-बार होना, हृदय रोग और लकवे का बढ़ता हुआ खतरा आदि।

समाधान

1. बाजार में इन दिनों बहुत तरह के एंटी-पल्यूशन मास्क और एयर-प्यूरीफ़ाइंग मशीनें मौजूद है|  इनके इस्तेमाल से आप अपने आपको स्वस्थ और घर का वातावरण शुद्ध रख सकते हैं।

2. वायु प्रदूषण से बचने का सबसे कारगर उपाय हैं एंटी-पल्यूशन मास्क का इस्तेमाल जो की जहरीली हवाओं को शरीर के अंदर नहीं जानें देती है। ऐसे में सस्ते मास्क की जगह ऐसे मास्क को खरीदें, जिसमें कार्बन फिल्टर लेयर हो और जो अच्छे से नाक, मुँह या चेहरे को ढक सकें।

3. पानी पीने से शरीर के अंदर सारे विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं, इसलिए जितना हो सके ज़्यादा से ज्यादा पानी पिएं और अपने बच्चों को भी पिलाएं।

4. इम्यून सिस्टम सेहत पर काफी असर डालता है| यह शरीर को कई तरह के बीमारियों से बचाता है। ऐसे में मजबूत इम्यून सिस्टम के लिए आप अपने डाइट में अखरोट, बींस, ब्रोक्कोली इत्यादि आहार शामिल करें जो की इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने में काफ़ी  मदद करते हैं। बता दे कि बच्चों का इम्यून सिस्टम बड़ों के अपेक्षा कमजोर होता हैं इसलिए बच्चों की डाइट में ऐसे आहारो को शामिल जरूर करें।

विवेक राय, कृषि जागरण

Comments