1. ख़बरें

PM SVANidhi Scheme क्या है, इस योजना का लाभ किसे और कैसे मिलेगा

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 1 जून को स्ट्रीट वेंडर्स के लिए एक क्रेडिट योजना को मंजूरी दे दी ताकि वे बिना किसी और देरी के अपने व्यवसायों को पुनर्जीवित कर सकें. पीएम स्वनिधि (PM SVANidhi) , या पीएम स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि योजना, 50 लाख से अधिक शहरी / पेरी-शहरी और ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर्स को सक्षम करने के लिए एक विशेष माइक्रो-क्रेडिट सुविधा योजना है,  इस योजना का लाभ तालाबंदी के कारण जिनकी आजीविका प्रभावित हुई है उनको पहले मिलेगा. इस योजना के तहत, सड़कों के प्रत्येक विक्रेताओं को 10,000 रुपये का ऋण दिया जाएगा, जिसे उन्हें 1 वर्ष के भीतर मासिक किस्तों के रूप में वापस करना पड़ेगा. गौरतलब है कि इस विशेष क्रेडिट स्कीम के तहत 24 मार्च, 2020 तक या उससे पहले वेंडिंग करने वाले 50 लाख स्ट्रीट वेंडर्स 10,000 रुपये तक का कर्ज ले सकते हैं. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सोमवार को कैबिनेट के फैसलों की जानकारी देते हुए यह बात कही.

पीएम स्वनिधि योजना का लाभ किसे मिलेगा

PM SVANidhi योजना के तहत हर स्ट्रीट वेंडर 10 हजार रुपये तक लोन ले सकता है. इस रकम को रेहड़ी-पटरी वाले एक साल के भीतर किस्त में लौटा सकते हैं. इस लोन को समय पर चुकाने वाले स्ट्रीट वेंडर्स को 7% का वार्षिक ब्याज अनुदान के तौर पर उनके खाता में सरकार की तरफ से ट्रांसफर किया जाएगा. इस योजना के तहत जुर्माने का कोई प्रावधान नहीं है.

PM SVANidhi योजना की खासियत

  • मोबाइल ऐप और वेब पोर्टल किसी भी तरह से आवेदन कर सकते हैं.

  • बिना गारंटी के लोन

  • 1 वर्ष के लिए 10,000 रुपये तक का शुरुआती लोन

  • 7 % ब्याज सब्सिडी कि सुविधा

  • छमाही आधार पर मिलेगा सब्सिडी भुगतान

  • समय से लोन भुगतान की स्थिति में अधिक लोन की एलिजिबलिटी

  • डिजिटल भुगतान पर मासिक कैशबैक की सुविधा

ये खबर भी पढ़े: कोरोना काल में खरबूज की खेती बनी किसानों के लिए संजीवनी

English Summary: PM Swanidhi: What is PM SVANidhi Scheme, who will get benefits of this scheme and how

Like this article?

Hey! I am विवेक कुमार राय. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News