1. ख़बरें

पीएम मोदी ने किया 20 लाख करोड़ रुपये के पैकेज का ऐलान, जानें किसानों और मजदूरों को क्या मिल सकता है !

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने और सूक्ष्म, लघु, मंझोले, उद्योग यानी MSME को राहत देने के के लिए 20 लाख करोड़ रुपये के विशेष राहत पैकेज (Biggest Economis Package) का ऐलान किया है. उन्होंने कहा, “ये पैकेज उन श्रमिकों और किसानों के लिए है जो हर हालात, हर मौसम में दिन रात देशवासियों के लिए परिश्रम कर रहे हैं, ये ईमानदारी से टैक्स भरने वाले मध्यम वर्गीय लोगों के लिए है, उद्योग जगत के लिए है. बता दें कि इस राहत पैकेज के विस्तार से जुड़ी सभी घोषणाएं आज होंगी-

पीएम किसान सम्मान निधि योजना का हो सकता है विस्तार

पीएम मोदी ने कहा, 'पिछले 6 साल में जो रिफॉर्म हुए, उनके चलते आज भारत की अर्थव्यवस्था अधिक सक्षम व समर्थ बनी है. रिफॉर्म्स के दायरे को व्यापक करते हुए नई हाइट पर ले जाना है. ये रिफॉर्म खेती से भी जुड़े होंगे ताकि किसान सशक्त हो और भविष्य में कोरोना संकट जैसे किसी अन्य आपदा में खेती के कामकाजों पर कम असर हो. मीडिया में आई खबरों के मुताबिक सरकार, पीएम किसान सम्मान योजना (PM Kisan Samman Yojana ) के विस्तार पर फैसला हो सकता है. इसके अलावा किसानों की आमदनी बढ़ाने को लेकर भी ऐलान होने की संभावना है.

Land, Labour, Liquidity और Laws, सभी पर बल

आत्मनिर्भर भारत के संकल्प को सिद्ध करने के लिए, इस पैकेज में Land, Labour, Liquidity और Laws, सभी पर बल दिया गया है. ये आर्थिक पैकेज हमारे कुटीर उद्योग, गृह उद्योग, हमारे लघु-मंझोले उद्योग, हमारे MSME के लिए है. जो करोड़ों लोगों की आजीविका का साधन है, जो आत्मनिर्भर भारत के हमारे संकल्प का मजबूत आधार है. -पीएम मोदी

देश के मध्यम वर्ग के लिए हो सकती है बड़ी घोषणा

ये आर्थिक पैकेज हमारे देश के मध्यम वर्ग के लिए है, जो ईमानदारी से टैक्स देता है, देश के विकास में अपना योगदान देता है.-पीएम मोदी

English Summary: PM Modi announced a package of 20 lakh crore rupees, know what farmers and laborers can get!

Like this article?

Hey! I am विवेक कुमार राय. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News