1. ख़बरें

बड़ी खबर :पीएम मोदी ने किया 20 लाख करोड़ के पैकेज का ऐलान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर राष्ट्र को संबोधित कर रहे हैं. प्रधानमंत्री मोदी के संबोधन पर इस बार देशभर के लोगों की नजरें इस बात पर टिकी हैं कि पीएम मोदी कोरोना से लड़ाई के लिए देशभर में लगे लॉकडाउन को लेकर कौन सा प्लान सामने रखेंगे. क्या लॉकडाउन को 18 मई से हटा दिया जाएगा या फिर रहेगा. दरअसल, पीएम मोदी ने रविवार को जब वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अलग –अलग राज्यों के मुख्यमंत्रियों से चर्चा की तो उस दौरान उन्होंने राज्यों से लॉकडाउन पर फीडबैक मांगा. ऐसे में पीएम मोदी क्या बोलेंगे, इसे लेकर सबकी उत्सुकता बढ़ गई है. पीएम मोदी के संबोधन की अपड्टेस और खबरों के लिए इस पेज को रिफ्रेश करते रहें-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण की प्रमुख बातें

आज एक विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा कर रहा हूं ये आत्मनिर्भर अभियान की अहम कड़ी का काम करेगा. आरबीआई पैकेज और इसे जोड़ दें तो ये 20 लाख करोड़ रुपये का है. 

ये आर्थिक पैकेज हमारे कुटीर उद्योग, गृह उद्योग, हमारे लघु-मंझोले उद्योग, हमारे MSME के लिए है, जो करोड़ों लोगों की आजीविका का साधन है,जो आत्मनिर्भर भारत के हमारे संकल्प का मजबूत आधार है.

आर्थिक पैकेज देश के उस श्रमिक के लिए है, देश के उस किसान के लिए है जो हर स्थिति, हर मौसम में देशवासियों के लिए दिन रात परिश्रम कर रहा है. ये आर्थिक पैकेज हमारे देश के मध्यम वर्ग के लिए है, जो ईमानदारी से टैक्स देता है, देश के विकास में अपना योगदान देता है

बीते 6 वर्षों में जो रिफॉर्म हुए, उनके कारण आज संकट के इस समय भी भारत की व्यवस्थाएं अधिक सक्षम, अधिक समर्थ नज़र आईं हैं.

अब रिफॉर्म के उस दायरे को व्यापक करना है, नई ऊंचाई देनी है. ये रिफॉर्मस खेती से जुड़ी पूरी सप्लाई चेन में होंगे, ताकि किसान भी सशक्त हो और भविष्य में कोरोना जैसे किसी दूसरे संकट में कृषि पर कम से कम असर हो.
 
लॉकडाउन का चौथा चरण, लॉकडाउन 4, पूरी तरह नए रंग रूप वाला होगा, नए नियमों वाला होगा. राज्यों से हमें जो सुझाव मिल रहे हैं, उनके आधार पर लॉकडाउन 4 से जुड़ी जानकारी भी आपको18 मई से पहले दी जाएगी.

English Summary: Big news: PM Modi announced a package of 20 lakh crores

Like this article?

Hey! I am विवेक कुमार राय. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News