MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. ख़बरें

Lavi Fair: अंतरराष्ट्रीय लवी मेले में जाइका के लिबास व ऑर्गेनिक प्रोडक्ट्स की धूम, किन्नौरी पट्टी से निर्मित कोट एवं चोली की खूब हुई बिक्री

Lavi Fair: शिमला के रामपुर में 11 से 14 नवंबर तक लवी मेला आयोजित किया गया. चार दिनों तक चले इस मेले में जाइका के तहत स्यवं सहायता समूहों के उत्पादों की बिक्री 3 लाख से अधिक की हुई. प्रदेश के विभिन्न जिलों से यहां पहुंचे लोगों ने किन्नौरी पट्टी से निर्मित कोट, चोली, बास्केट समेत जैकेट की खूब खरीददारी की.

KJ Staff
अंतरराष्ट्रीय लवी मेला.
अंतरराष्ट्रीय लवी मेला.

Lavi Fair: अंतरराष्ट्रीय लवी मेले के दौरान जाइका वानिकी परियोजना के तहत निर्मित लिबास और ऑर्गेनिक प्रोडक्ट्स ने खूब धूम मचाई. मेले के दौरान जाइका के स्टॉल में किन्नौरी एवं पारंपरिक लिबास की जमकर बिक्री हुई. बता दें कि लवी मेला 11 से 14 नवंबर तक चला. चार दिनों तक चले इस मेले में जाइका के तहत स्यवं सहायता समूहों के उत्पादों की बिक्री 3 लाख से अधिक की हुई. प्रदेश के विभिन्न जिलों से यहां पहुंचे लोगों ने किन्नौरी पट्टी से निर्मित कोट, चोली, बास्केट समेत जैकेट की खूब खरीददारी की. यानी कुल मिलाकर कम दाम में क्वालिटी प्रोडक्ट्स खरीद कर लोग काफी खुश दिखे.

लोगों को खूब पंसद आए जाइका के उत्पाद 

उल्लेखनीय है कि अंतरराष्ट्रीय लवी मेले के अवसर पर 11 से 14 नवंबर तक जाइका वानिकी परियोजना के स्टॉल में लगे उत्पादों की जमकर सराहना भी हुई. प्राप्त जानकारी के मुताबिक यहां किन्नौरी टोपी 400 रुपये प्रति, लेडीज बास्केट 1600, जेंट्स बास्केट 1800, किन्नैरी चोली 2500 और किन्नौरी पट्टी वाला कोट मात्र 4500 रुपये में उपलब्ध हैं. इसके अलावा लोकल लसन के आचार, लोकल शहद, ढिंगरी मशरूम, किन्नौरी दाक, किन्नौरी राजमाह, सूखा पुदीना, कोदे का आटा, चुल्ली का तेल, सूखा बरांश की बिक्री हुई. जाइका के तहत विभिन्न स्वयं सहायता समूहों की ओर से निर्मित इन उत्पादों लवी मेले में तहलका मचा दिया. मेले के समापन्न अवसर पर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री ने भी जाइका प्रोजेक्ट के तहत निर्मित सभी उत्पादों की सराहना की. उन्होंने जाइका वानिकी परियोजना के तहत विभिन्न सहायता समूहों को बधाई भी दी. बताया गया कि स्यवयं सहायता समूह रामपुर डिविजन की सेल 41,915, स्वयं सहायता समूह आनी डिविजन की सेल 1,88,435 और किन्नौर फोरेस्ट डिविजन के तहत स्वयं सहायता समूह द्वारा निर्मित उत्पादों की बिक्री 1,37,270 रुपये में हुई.

सीपीडी नागेश गुलेरिया का जताया आभार

सभी स्वयं सहायता समूहों के सदस्यों ने  जाइका वानिकी परियोजना के मुख्य परियोजना निदेशक नागेश कुमार गुलेरिया का आभार व्यक्त किया. स्वयं सहायता समूहों के सदस्यों कहा कि आज नागेश कुमार गुलेरिया के सहयोग से स्वरोजगार एवं आजीविका कमाने के बेहतर अवसर मिल रहे हैं.

अधिक रही चिलगोजे की मांग

अंतरराष्ट्रीय लवी मेला रामपुर में इस बार चिलगोजे के मांग सबसे अधिक रही. यहां जाइका की ओर से लगे स्टॉल में हर तरह के ऑर्गेनिक प्रोडक्ट्स की मांग अधिक रही. मक्की का आटा, सूखे मटर, फाफरा, ओगला, चुल्ली का तेल, शहद, चिलगोजा और ड्राई मशरूम की भी खूब बिक्री हुई. बताया गया कि फोरेस्ट सर्कल रामपुर के 12 सहायता समूहों के उत्पादों पर हर कोई फिदा होते दिखे. रामपुर और किन्नौर डिविजन के 3-3 और आनी डिविजन के 6 सहायता समूहों के उत्पादों की मांग हर रोज होती रही.

English Summary: People liked JICA dresses and organic products in International Lavi Fair huge sales of coats and blouses made from Kinnauri Patti Published on: 17 November 2023, 02:57 PM IST

Like this article?

Hey! I am KJ Staff. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News