1. ख़बरें

सड़क सुरक्षा के स्लोगन लिखने पर 10 हजार का इनाम, बैठें इस तरह लें हिस्सा

सिप्पू कुमार
सिप्पू कुमार

दुनिया में सबसे अधिक सड़क दुर्घटनाएं भारत में होती है, जिसमें अधिकतर हादसे लोगों की लापरवाही, ट्रैफिक नियमों की अनदेखी एवं तेज स्पीड़ ड्राइविंग के कारण होते हैं. बदलते हुए जीवनशैली के साथ घर-घर में गाड़ी रखने का प्रचलन तो बढ़ा है, लेकिन रोड़ सेफ्टी को लेकर लोगों में जागरूक्ता की कमी अभी भी है.

सरकार कर रही है प्रतियोगिता का आयोजन

यही कारण है कि लोगों को ट्रैफिक नियमों के बारे में बताने और सड़क सुरक्षा के प्रति सचेत करने के लिए सरकार तरह-तरह के अभियान चलाती रहती है. इसी क्रम में सरकार ने एक प्रतियोगिता का आयोजन किया है, जिसमें सड़क सुरक्षा से संबंधित स्लोगन लिखने वाले को 10 हजार रूपए विजेता राशि देने की पेशकश की गई है.

इस तरह ले सकते हैं हिस्सा

यह प्रतियोगिता केंद्र सरकार की तरफ से आयोजित की जा रही है, इसलिए इसमें कोई भी हिस्सा ले सकता है. हिस्सा लेने के लिए आवेदन आपको ऑनलाइन ही करना होगा. आवेदन करने के लिए आपका एकाउंट माईगव (MY GOV) के सरकारी वेबसाइट पर होना चाहिए. अगर आपने अभी तक वहां अपना एकाउंट नहीं बनाया है तो इस लिंक पर जाकर एकाउंट बना सकते हैं.

किस तरह ले सकते हैं हिस्सा

इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए आपको माईगव के सरकारी वेबसाइट (वेबसाइट पर जाने का लिंक का उपयोग करें) पर जाना है और वहां पार्टिसिपेट के ऑप्शन पर क्लिक करना है. आपके सामने एक बॉक्स आएगा, जहां आपको अपना नाम, पता, निवास, फोन नंबर, मेल ईमेल आईडी आदि लिखना है.

प्रतियोगिता की कुछ सामान्य बातें

इस प्रतियोगिता में सिर्फ 10 फरवरी तक ही हिस्सा ले सकते हैं, इसलिए जितनी जल्दी हो हिस्सा लेने के लिए आवेदन करें. प्रतियोगित में टॉप फाइव स्लोगन को 10 हजार की राशि मिलेगी, ध्यान रहे कि आपका स्लोगन कहीं और से उठाया गया या नकल किया हुआ नहीं होना चाहिए. किसी और के स्लोगन या इंटरनेट से उठाए गए स्लोगन मान्य नहीं होंगे. स्लोगन में सरल, साफ एवं लोकप्रिय शब्दों का चुनाव होना चाहिए.

English Summary: participate in road Save Lives competition and win 10 thousand price money

Like this article?

Hey! I am सिप्पू कुमार. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News