News

पुरुषोत्तम रुपाला जी” केंद्रीय मृदा लवणता अनुसंधान संस्थान, करनाल द्वारा मेले का आयोजन

केंद्रीय मृदा लवणता अनुसंधान संस्थान, करनाल ICAR Central soil salinity Research Institute Karnal द्वारा 9 अक्टूबर 2018, दिन मंगलवार को प्रातः 11:00 बजे “स्वर्ण जयंती उन्नत कृषि मेला” का आयोजन केंद्रीय मृदा लवणता अनुसंधान संस्थान, करनाल द्वारा (ICAR Central Soil Salinity Research Institute Karnal) 9 अक्टूबर 2018, दिन मंगलवार को प्रातः 11:00 बजे “स्वर्ण जयंती उन्नत कृषि मेला” का आयोजन किया जा रहा है. संस्थान इस वर्ष अपनी स्थापना की 50 वी वर्षगांठ मना रहा है. देश की लवण प्रभावित भूमि का सुधार कर कृषि योग्य बनाने तथा लवणता के फैलाव को रोकने की रणनीति विकसित करने हेतु इस संस्थान की स्थापना सन 1969 में करनाल में की गई थी| कालांतर में इस संस्थान ने अनेक उपलब्धियां हासिल की हैं जिनमें लवण प्रभावित भूमियों एवं भूमिगत जल की गुणवत्ता के आंकड़े एकत्रित करना,ऊसर भूमियों का सुधार एवं प्रबंधन तकनीक का विकास, लवणता के प्रति सहनशील 18 फसल किस्मों का विकास, लवणग्रस्त तटवर्ती भूमियों का सुधार, तकनीकों का किसानों तक हस्तांतरण आदि प्रमुख है.

इस मेले में विभिन्न राज्यों से बड़ी संख्या में किसानों के भाग लेने के साथ साथ कृषि अनुसंधान एवं विकास से जुड़े विभिन्न संस्थानों एवं संगठनों के भी भाग लेने के कार्यक्रम है |इस मेले के मुख्य आकर्षण के रूप में वैज्ञानिक किसान संगोष्ठी, विषय- विशेषज्ञों द्वारा वार्ता, कृषि प्रदर्शनी तथा किसानों को सम्मानित करना आदि गतिविधियां आयोजित की जाएंगी. कृषि प्रदर्शनी में कृषि एवं पशुपालन से संबंधित सरकारी एवं निजी संगठनों द्वारा प्रदर्शनी स्टॉल लगाए जाएंगे जिनके द्वारा कृषक उपयोगी फसलों के बीज एवं अन्य सामग्रियां बिक्री के लिए उपलब्ध कराई जाएंगी| कृषि प्रदर्शनी में कृषि सेवा प्रदान की जाने वाली संस्थाओं के भी स्टॉल लगाए जाएंगे.

इस किसान मेले में भारत सरकार के कृषि एवं किसान कल्याण एवं पंचायती राज राज्यमंत्री माननीय श्री पुरुषोत्तम रुपाला जी मुख्य अतिथि के रूप में पधार कर कृषि प्रदर्शनी का उद्घाटन करेंगे तथा किसानों को संबोधित करेंगे.

 

संपर्क करें

अनिल कुमार,
नोडल अधिकारी किसान मेला
मोबाइल नंबर 094588-18844
ईमेल: anilkumar_cpri@yahoo.com



English Summary: Organizing the Fair by Central Soil Salinity Research Institute, Karnal

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in