कृषि कौशल विकास पर राष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन

यह तो सभी जानते है कि भारत में बहुत बड़े स्तर पर कृषि होती है | लेकिन यह भी सभी जानते है कि कृषि में तकनीक का भी बहुत बड़ा योगदान हैइसलिए कृषि में तकनीक को बढ़ावा देने और किसानों के कौशल विकास के लिए पूसा के एनएएससी काम्प्लेक्स में कार्यशाला का आयोजन किया गयाइस कार्यशाला में देश कई राज्यों से कृषि वैज्ञानिकोकृषि अधिकारीयों ने भाग लियाइसी के साथ कृषि क्षेत्र निजी कंपनियों के उच्चस्तरीय अधिकारीयों ने भी भाग लियाइस कार्यशाला का मुख्य मुद्दा रहाकि कैसे किसानों कौशल बनाकर अधिक से अधिक किसानों को प्रशिक्षित किया जाए

इस कार्यशाला में बतौर मुख्य अतिथि कृषि मंत्री राधामोहन ने शिरकत कीकार्यशाला में बी.के सिकदरडायरेक्टर एमएसडीसीसंजीव अस्थाना , चेयरमैन एएससीआईडॉवीपी चहल एडीजी (प्रसारआईसीएआररुचिरा चंद्राकंसलटेंट एनएसडीए ने परिचर्चा कीएग्रीकल्चर काउंसिल की और से डॉसतेंदर सिंह ने प्रस्तुति दीउन्होंने बताया की एएससीआई मुख्य रूप से किसानों को कौशलता प्रशिक्षण प्रदान करता हैइसका गठन कृषि मंत्रालय के सहयोग से किया गया है जिसका उद्देश्य अधिक से अधिक लोगो को प्रशिक्षित करना हैइसके लिए इस संस्थान ने कृषि के विभिन्न क्षेत्र की निजी कंपनियों के साथ कोलाब्रेशन कियाजिसके साथ मिलकर अब तक एक लाख से अधिक प्रशिक्षुओं को प्रशिक्षण देकर आत्मनिर्भर बना चुकी है|

Comments