News

टिक टॉक में हुआ बड़ा बदलाव, अब कोई भी अकाउंट से नहीं कर पाएगा छेड़छाड़ !

आज-कल हर कोई टिक - टॉक का  दीवाना हुआ पड़ा है पर ये दीवानगी इसके कई यूजर्स के लिए भारी भी पड़ गई. कई लोगों ने अपनी जान गवाई तो कई हॉस्पिटल में भर्ती हो गए. लोगों के सिर से इसके नशे को उतारने के लिए तो सरकार ने इस पर बैन तक लगा दिया था पर इसके दीवानों की दीवानगी को देखते हुए सरकार को भी अपना आदेश वापिस लेना पड़ा.  

भारत में कुछ अवैध सामग्री पर प्रतिबंध लगाने के बाद कंपनी अपने प्लेटफार्मों पर उपयोगकर्ताओं की सुरक्षा और सुरक्षा में सुधार के लिए कुछ गंभीर कदम उठा रही है. इसके साथ ही यह पूरा मामला तब सुर्खियों में आया जब मद्रास उच्च न्यायालय(Madras High Court ) में एक याचिका दायर की गई थी. लेकिन, मद्रास उच्च न्यायालय  द्वारा प्रतिबंध हटाने के बाद ऐप फिर से वापस आ गया है. तमिलनाडु में एक बहुत ही चौंकाने वाली घटना सामने आई थी. जहां दो बच्चों की 24 वर्षीय मां ने पिछले हफ्ते आत्महत्या कर ली, जब उसके पति द्वारा उसे डांटा गया और शॉर्ट वीडियो बनाने वाले ऐप से रोका गया. तो अनिता अपने पति की इस डांट को सहन नहीं कर पाई और उसने जहर पीते हुए अपनी वीडियो बनाकर अपने पति को वाट्सऐप पर भेज दिया. उसके पति अभी सिंगापुर में काम करते है. अनीता की वीडियो देखने के बाद उसके पति के पैरों तले जमीन खिसक गई. मीडिया में आई  ख़बरों के मुताबिक, अनिता के पति को टिक-टॉक पर वीडियो बनाना बिल्कुल पसंद नहीं था. इसलिए वे उसे मना करते थे.

अब भारत में टिक - टॉक पर हो रहे गलत प्रयोग को देखते हुए नया सेफ्टी फीचर 'डिवाइस मैनेजमेंट' को लॉन्च किया गया है. यह नया फीचर  यूज़र्स को अपने अकाउंट पर पूरा कंट्रोल रखने में मदद करेगा. जिससे कोई उनके अकाउंट के साथ छेड़ -खानी नहीं कर सकेगा.

कंपनी ने कहा कि "टिक टॉक" लगातार भारत में अपने 20 करोड़ से ज्यादा यूज़र के लिए एक सुरक्षित और सकारात्मक ऐप एक्सपीरिएंस देता है. उन्होंने ये भी कहा कि इसके जरिए यूज़र्स को अपनी क्रिएटिविटी को दिखाने के लिए और बेहतर अनुभव प्रदान करने के लिए सभी जानकारी से लैस किया जायेगा है. जिसके लिए उन्हें इन-ऐप टूल(App. Tool) और शैक्षिक सामग्री भी प्रदान की जाएगी है.



Share your comments