अगले चार दिनों में केरल पहुँच सकता है मानसून

यह शायद किसानों के लिए अच्छी खबर हो सकती है. इस बार  मानसून समय से पहले दस्तक दे सकता है। आईएमडी यानी भारतीय मौसम विभाग ने बताया है कि दक्षिण-पश्चिम मॉनसून शुक्रवार को दक्षिण अंडमान सागर में पहुंच गया और इसके अगले 4 दिनों में केरल पहुंचने की संभावना है। अगर यह पूर्वानुमान बरकरार रहता है तो इस साल मॉनसून अपनी सामान्य तारीख से कम से कम 3 दिन पहले आने की उम्मीद है. उम्मीद जताई जा रही है कि अगले महीने की शुरुआत में दक्षिण भारत के कई हिस्सों में अच्छी बारिश हो सकती है।

इसी के साथ मौसम का पूर्वानुमान लगानेवाली स्वतंत्र एजेंसियों का कहना है कि मजबूत शुरुआत के बाद देश के कई हिस्सों में बाढ़ और सूखा पड़ने की आशंका बढ़ गई है। खासतौर से खेती के लिहाज से महत्वपूर्ण जुलाई और अगस्त के महीने में इसका खतरा ज्यादा है। प्राइवेट फ़ॉरकास्टर ने भले ही सतर्क रहने को कहा हो पर  भारतीय मौसम विभाग के निदेशक (लॉन्ग रेज फॉरकास्ट) डी. एस. पई का कहना है कि मॉनसूनी बारिश देश के अलग-अलग हिस्सों में कैसी होगी, इसकी भविष्यवाणी करना अभी जल्दबाजी होगी।

इन इलाको में पड़ सकता है सूखा :

एजेंसी की मानें तो उत्तर-पश्चिम और दक्षिण-पूर्वी भारत के कुछ हिस्सों में सूखा पड़ सकता है। उधर, प्राइवेट फॉरकास्टर स्काइमेट ने भी असमान बारिश की भविष्यवाणी की है। इसके मुताबिक उत्तरपूर्वी भारत के ज्यादातर हिस्सों में मॉनसून के सीजन में कम बारिश हो सकती है। स्काइमेट वेदर का कहना है कि जुलाई और अगस्त के महीने में कम बारिश हो सकती है। यहां तक कि अगस्त में जुलाई से भी कम बारिश के आसार हैं। स्काईमेट वेदर का कहना है कि इस बार शुरुआत में ही मुंबई में भरी बारिश हो सकती है इसलिए मुंबई वासी अलर्ट रहे.


 

Comments