MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. ख़बरें

Top Agriculture Universities: देश की इन सर्वश्रेष्ठ कृषि विश्वविधालय में पढ़कर भविष्य को बनाएं बेहतर, जानें सम्पूर्ण जानकारी

भले ही भारत चाँद और मंगल पर तिरंगा क्यों ना लहरा ले, लेकिन कृषि के योगदान को कोई नहीं भूला सकता है. भारतीय विकास और भारत को प्रगतिशील बनाने में कृषि एक अहम भूमिका निभाती है. ऐसे में कृषि क्षेत्र में कुशल पेशेवरों की मांग दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है.

प्राची वत्स
Top 8 Agriculture University
Top 8 Agriculture University

भारत का हर बच्चा शायद यह बात समझता है कि भातीय अर्थव्यवस्था किस प्रकार कृषि और उसके कार्यों पर निर्भर है. भले ही भारत चाँद और मंगल पर तिरंगा क्यों ना लहरा ले, लेकिन कृषि के योगदान को कोई नहीं भूला सकता है. भारतीय विकास और भारत को प्रगतिशील बनाने में कृषि एक अहम भूमिका निभाती है. ऐसे में कृषि क्षेत्र में कुशल पेशेवरों की मांग दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है.

भारतीय कृषि व्यवस्था को अब अनुभव के साथ नये जोश और नई समझ की जरुरत है. जो आगे का सोच रखकर कृषि को नई दिशा में ले जा सकें. ऐसे में जरुरी है कि आज के युवा कृषि क्षेत्र में स्नातक या स्नातकोत्तर की डिग्री लेकर इस पर काम करें. अगर आप भी इसमें रूचि रखते हैं, लेकिन आपको यह नहीं समझ आ रहा है कि कहाँ और किस कॉलेज से अपनी पढाई कर इस दिशा में आगे बढ़ें, तो आप बिल्कुल सही जगह आए हैं. आज इस लेख में हम आपको बताएँगे कि कौन का Agriculture College आपके लिए बेस्ट है. आइये जानते हैं भारत की टॉप 8 यूनिवर्सिटी (Top 8 Agriculture University)

नेशनल डेयरी रिसर्च इंस्टिट्यूट, करनाल (National Dairy Research Institute, Karnal, NDRI)

1923 में एनडीआरआई (NDRI) की स्थापना हरयाणा में हुई थी. शीर्ष डेयरी शोध संस्थानों में से एक के रूप में, एनडीआरआई डेयरी के क्षेत्र में उच्च गुणवत्ता की शिक्षा प्रदान करता है. नेशनल डेयरी रिसर्च इंस्टिट्यूट में स्नातक, स्नातकोत्तर, पीएचडी और डिप्लोमा पाठ्यक्रम की पढ़ाई होती है. इस कॉलेज में अन्य राज्य और देश के भी छात्र एडमिशन ले सकते हैं. यहाँ अन्य राज्य के छात्रों के लिए छात्रावास की भी सुविधा है.

भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, दिल्ली (Indian Agricultural Research Institute, Delhi, IARI)

पूसा एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी आज के समय में एग्रीकल्चर के लिए सबसे जानी-मानी संस्थाओं में से एक माना जाता है. इसकी स्थापना 1905 में नई दिल्ली में की गयी थी. 1958 में, आईएआरआई ने एक समख्यात विश्वविद्यालय की स्थिति प्राप्त की. वर्तमान में, संस्थान में 20 डिवीजन, 3 अखिल भारतीय समन्वित अनुसंधान परियोजनाएं, 5 बहु-अनुशासनात्मक केंद्र, 2 ऑफ-सीजन नर्सरी, 8 क्षेत्रीय स्टेशन और 10 राष्ट्रीय केंद्र हैं (यह आकड़ा 2018 के मुताबिक दिया गया है). कृषि विश्वविद्यालय, पर्यावरण विज्ञान, जैव रसायन, जैव सूचना विज्ञान, बागवानी, कंप्यूटर अनुप्रयोग, खाद्य विज्ञान, संयंत्र रोगविज्ञान, बीज विज्ञान, मृदा विज्ञान आदि में पाठ्यक्रम प्रदान करता है.

आचार्य एनजी रंगा कृषि विश्वविद्यालय, हैदराबाद (Acharya N. G. Ranga Agricultural University, ANGRAU)

विश्वविद्यालय को 12 जून 1964 को आंध्र प्रदेश कृषि विश्वविद्यालय (एपीएयू) के नाम से स्थापित किया गया था. 1996 में, नाम बदलकर आचार्य एनजी रंगा कृषि विश्वविद्यालय में संसदीय आचार्य एनजी रंगा की याद में बदल दिया गया, जिन्होंने कारण के लिए महत्वपूर्ण सेवा प्रदान की किसानों का विश्वविद्यालय कृषि, कृषि इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी और गृह विज्ञान में स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम दोनों के तहत प्रदान करता है.

पंजाब कृषि विश्वविद्यालय (पीएयू), लुधियाना (Punjab Agricultural University, PAU, Ludhiana)

1962 में स्थापित, पीएयू देश का तीसरा सबसे पुराना कृषि संस्थान है. नवंबर 1966 में पंजाब के विभाजन पर, हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय को फरवरी 1970 में संसद के एक अधिनियम द्वारा पीएयू से बना दिया गया था. विश्वविद्यालय ने प्रयोगशालाओं, व्याख्यान कक्षों और कृषि सुविधाओं को अच्छी तरह से संसाधन दिया है. छात्रों के लिए छात्रावास सुविधा भी उपलब्ध है.

भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान (Indian Veterinary Research Institute, IVRI)

1889 IVRI में स्थापित एक शोध संस्थान है, जो पशुधन अनुसंधान और विकास के लिए समर्पित है.  संस्थान पशु चिकित्सा और पशु विज्ञान, मूल विज्ञान और पशुधन उत्पाद प्रौद्योगिकी के 20 से अधिक विषयों में पीजी और पीएचडी पाठ्यक्रम प्रदान करता है. यह पशुपालन, पशु चिकित्सा जैविक उत्पाद, पशु प्रजनन, कुक्कुट पालन, मांस उत्पाद प्रौद्योगिकी इत्यादि में डिप्लोमा पाठ्यक्रम भी प्रदान करता है.

केंद्रीय मत्स्य शिक्षा संस्थान, मुंबई (Central Institute of Fisheries Education, Mumbai, CIFE)

1961 में स्थापित CIFE भारत में अग्रणी राष्ट्रीय मत्स्यपालन विश्वविद्यालय है. इसकी एक विशिष्ट विरासत है. यह स्नातक के साथ ही स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम दोनों प्रदान करता है.

जीबी पंत विश्वविद्यालय कृषि और प्रौद्योगिकी, उत्तराखंड (GB Pant University of Agriculture and Technology, Uttarakhand)

1960 में स्थापित विश्वविद्यालय में 763 प्रोफेसरों और अधिकारियों, 59 तकनीकी कर्मचारी, 631 प्रशासनिक कर्मचारी और 1425 कक्षा -3 कर्मचारियों सहित 2,878 कर्मचारी सदस्य हैं. विश्वविद्यालय कृषि, मूल विज्ञान, कृषि व्यवसाय प्रबंधन, पशु चिकित्सा विज्ञान, मत्स्य विज्ञान विज्ञान और गृह विज्ञान जैसे विभिन्न विषयों में अंडर ग्रेजुएट के साथ ही पीजी कार्यक्रम भी प्रदान करता है.

कृषि विज्ञान विश्वविद्यालय (एएसयू), बैंगलोर (University of Agricultural Sciences, Bangalore, ASU)

1963 में इसकी स्थापना की गई थी और यह देश में प्रमुख कृषि शिक्षा और अनुसंधान संस्थान है, जो स्नातक डिग्री, स्नातकोत्तर अध्ययन के साथ-साथ गैर डिग्री पाठ्यक्रम भी प्रदान करता है.

English Summary: List of Top 8 Agricultural Universities in India Published on: 06 October 2018, 04:09 AM IST

Like this article?

Hey! I am प्राची वत्स. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News