MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. ख़बरें

केजे चौपाल: दीपिका डेली के एसोसिएट एडिटर ने कृषि जागरण का किया दौरा, पत्रकारिता को लेकर रखा अपना विचार

कृषि जागरण ने दीपिका डेली के एसोसिएट एडिटर और चीफ ऑफ ब्यूरो, जॉर्ज कालीवायलिल को अपने दिल्ली स्थित कार्यालय में आमंत्रित किया. उन्होंने कृषि जागरण टीम के साथ बातचीत की और कृषि में अपने अनुभव को सभी के साथ साझा किया.

देवेश शर्मा
कृषि जागरण कार्यालय में एमसी डोमिनिक के साथ जॉर्ज कालीवायलिल
कृषि जागरण कार्यालय में एमसी डोमिनिक के साथ जॉर्ज कालीवायलिल।

पत्रकार क्या है और उसका जीवन सामान्य लोगों से कैसे अलग है यह जानने की उत्सुकता हर किसी में होती है. हर कोई इस बात में अपनी दिलचस्पी रखता है कि एक पत्रकार किसी भी वस्तु या घटना को लेकर क्या विचार रखता है या फिर उसकी विचारधारा किस ओर बढ़ रही है.

इसी कड़ी में आज KJ Chaupal में दीपिका डेली के एसोसिएट एडिटर और चीफ ऑफ ब्यूरो, जॉर्ज कालीवायलिल को मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया गया.

उन्होंने कृषि जागरण के साथ अपने पत्रकारिता और कृषि के अनुभवों को साझा किया. उन्होंने अपने अनुभव के आधार पर बड़ी स्पष्टता के साथ अपने विचारों को सभी के समक्ष रखा.

भारत की लोकतांत्रिक व्यवस्था में पत्रकारिता को चौथा स्तंब कहा गया है और इसी चौथे स्तंब का पहिरेदार है पत्रकार, अगर आम भाषा में कहें तो पत्रकार ही ऐसा व्यक्ति है जो समाज को जगाए रखने का काम करता है.

केजे टीम ने उन्हें एक छोटे से पौधे से सम्मानित किया
केजे टीम ने उन्हें एक छोटे से पौधे से सम्मानित किया

कृषि जागरण के कार्यालय में आज आए जॉर्ज कालीवायलिल ने इसी पत्रकारिता के महत्व को बताते हुए यहां पर काम करने वाले सभी कर्मचरियों को संबोधित करते हुए अपने पत्रकारिता के अनुभव को सभी लोगों से साझा किया और अपने करीबी दोस्त और कृषि जागरण और एग्रीकल्चर वर्ल्ड के फाउंडर एंड एडिटर इन चीफ एमसी डोमिनिक को अपनी टीम को सफलता की ओर ले जाने और कृषक समुदाय के लिए अद्भुत काम करने के लिए बधाई दी.

KJ Chaupal में जॉर्ज कालीवायलिल से जब पूछा गया कि वास्तव में उन्हें पत्रकारिता के क्षेत्र में प्रवेश करने के लिए किसने प्रेरित किया. तब उन्होंने इसका जवाब देते हुए कहा कि शुरू में, उनके मन में एमबीबीएस की पढ़ाई कर डॉक्टर बनने की इच्छा थी.

अतिथि ने पत्रकार होने के अपने विचार और अनुभव साझा किए।
अतिथि ने पत्रकार होने के अपने विचार और अनुभव साझा किए।

लेकिन ग्रेजुएशन के अपने अंतिम वर्ष के दौरान उन्होंने महसूस किया कि एमबीबीएस में उनकी रूचि नहीं है क्योंकि तब तक उनका झुकाव पत्रकारिता के प्रति हो चुका था इसलिए उन्होंने डॉक्टर के फील्ड को छोड़कर पत्रकार बनने का फैसला किया.

एमसी डोमिनिक और शाइनी डोमिनिक के साथ जॉर्ज कालीवायलिल
एमसी डोमिनिक, शाइनी डोमिनिक और KJ परिवार के साथ जॉर्ज कालीवायलिल
English Summary: KJ Choupal: Editor of Deepika Daily thought of Krishi Jagran's ideas, kept Published on: 29 June 2022, 10:28 PM IST

Like this article?

Hey! I am देवेश शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News