News

KCC: किसान क्रेडिट कार्ड वाले किसानों को मिलेगा लाभ, 2 लाख करोड़ का रियायती लोन देगी सरकार

सरकार ने आत्मनिर्भर पैकेज का लाभ देते हुए किसानों को बिना गारंटी के तीन लाख रुपए का लोन देने का निर्णय लिया है. दुग्ध उत्पादन से सीधे तौर पर जुड़े लोगों को इसका लाभ मिलेगा.सरकार द्वारा कोरोना काल को देखते हुए किसानों के लिए आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत आर्थिक पैकैज का ऐलान किया गया था. इसमें किसानों को अलग-अलग प्रकार से लाभ देने की योजना बनाई गयी थी. किसान क्रेडिट कार्ड को लेकर सरकार द्वारा इसमें 2 लाख करोड़ के रियायती लोन देने का निर्णय लिया गया. इस विषय पर बात करते हुए केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री ने कहा कि कॉमन सर्विस सेंटर्स के माध्यम से अभी तक 11.48 लाख किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड के लिए पंजीकृत किया जा चुका है. पिछले दिनों किसान क्रेडिट कार्ड को लेकर निर्मला सीतारमण ने यह घोषणा की थी कि अब देश के सभी किसानों का किसान क्रेडिट कार्ड बनाया जाएगा. इसके लिए बैंकों द्वारा पीएम किसान सम्मान निधि के भी डाटा को इस्तेमाल किया जाएगा.

किसानों को बिना गारंटी के दिया जाएगा 3 लाख रुपये का लोन

सरकार ने कुछ किसानों के लिए बड़ा कदम उठाते हुए किसान क्रेडिट कार्ड पर बिना गारंटी लोन देने की सीमा बढ़ाकर 3 लाख रुपये कर दिया है. जबकि यह राशि पहले 1.60 लाख रुपए ही था. इस फैसले के बाद किसानों के लिए लोन लेना आसान हो जाएगा लेकिन यह सुविधा सभी किसानों को नहीं मिलेगी. यह लाभ उन किसानों को ही मिलेगा जिनका दूध सीधे तौर पर मिल्क यूनियनों द्वारा खरीदा जाता है. इससे दुग्ध संघो से जुड़े डेयरी किसानों को सस्ते दर पर पैसा भी मिलेगा और बैंकों को कर्ज चुकता होने की संभावना भी बनी रहगी.

खत्म होने वाले चार्ज

पहले सरकार ने किसान क्रेडिट कार्ड बनाने वालों के लिए कुछ नियम व शर्तें रखी थीं. पहले किसानों को प्रोसिंग फीस, इंस्पेक्शन और लेजर फोलिया चार्ज देना होता था लेकिन अब इसे खेत्म कर दिया गया. इसमें लोन की राशि 3 लाख रुपए की है. पहले बिना गारंटी 1 लाख रुपये का लोन मिलता था जिसे बढ़ाकर 1.60 लाख रुपये कर दिया गया है.

किन किसानों का बनता है केसीसी ?

किसान क्रेडिट कार्ड कोई भी किसान आसानी से बनवा सकता है. उसके लिए यह जरूरी नहीं है कि उसके पास अपनी जमीन हो वह किसी अन्य किसान की भी जमीन पर खेती-किसानी करता हो तो भी इसे बनवा सकता है. इसके आवेदन के लिए न्यूनतम और अधिक्तम आय निर्धारित की गई है. किसान कम से कम 18 और ज्यादा से ज्यादा 75 साल का होना चाहिए. वहीं 60 साल से ज्यादा उम्र के आवेदक के लिए एक सह-आवेदक होना जरूरी है. यह आवेदक का रिश्तेदार हो सकता है और इसकी उम्र 60 वर्ष से कम होना चाहिए.

क्या देना होगा दस्तावेज़ ?

केसीसी (Kisan credit card) के लिए हर बैंक के द्वारा अलग-अलग डॉक्युमेंट्स निर्धारित की गई है. लेकिन, कुछ डॉक्युमेंट्स ऐसे समान हैं जो सभी आवेदक किसानों के पास होना जरूरी है. इसमें आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस जैसे आईडी प्रूफ, एड्रेस प्रूफ देना अनिवार्य है. इसके साथ ही एक पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ भी आवदेन के लिए जरूरी है. कई बैंको ने इसके आवेदन के लिए ऑनलाइन सुविधा भी दी है. आवेदन फॉर्म उनके ऑफिशियल वेबसाइट से प्राप्त किया जा सकता है.

ये खबर भी पढ़ें: पालक से बढ़ेगी रोग प्रतिरोधक क्षमता, विटामिन A, B और C से है भरपूर



English Summary: KCC: Government to give loan of 2 lakh crore to dairy farmers, check details

कृषि पत्रकारिता के लिए अपना समर्थन दिखाएं..!!

प्रिय पाठक, हमसे जुड़ने के लिए आपका धन्यवाद। कृषि पत्रकारिता को आगे बढ़ाने के लिए आप जैसे पाठक हमारे लिए एक प्रेरणा हैं। हमें कृषि पत्रकारिता को और सशक्त बनाने और ग्रामीण भारत के हर कोने में किसानों और लोगों तक पहुंचने के लिए आपके समर्थन या सहयोग की आवश्यकता है। हमारे भविष्य के लिए आपका हर सहयोग मूल्यवान है।

आप हमें सहयोग जरूर करें (Contribute Now)

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in