कीर्तिमानों की फेहरिस्त में कृषि जागरण को मिला ISO सर्टिफिकेट

देश के सबसे बड़े कृषि मीडिया हाउस कृषि जागरण ने हाल ही में अपना नाम लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स में दर्ज किया है. और अब कृषि जागरण ने एक और उपलब्धि हासिल की है. हाल ही में कृषि जागरण को आईएसओ द्वारा प्रमाणित किया गया है. कृषि जागरण को आईएसओ सर्टिफिकेशन मिलना गर्व की बात है. कृषि जागरण कृषि और ग्रामीण क्षेत्र में काम करने वाला प्रसिद्ध मीडिया हाउस है.

कंपनी को आईएसओ 9001: 2015 (क्वालिटी मनैजमेंट सिस्टम), आईएसओ 14001 : 2015 (एनवायरनमेंट मैनेजमेंट सिस्टम) और ओएचएसएएस 18001:2007 द्वारा प्रमाणित किया गया है. इन तीनो सर्टिफिकेट के मिलने के मौके पर डॉ. आर.बी.सिंह कुलपति, सेंट्रल एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी, डॉ. एस.पी. मोहंती, सीएमडी हिल इंडिया लिमिटेड और इफको की और से नवीन चौधरी मौजूद रहे.

कृषि क्षेत्र के इन तीनो दिग्गजों की उपस्थिति में कृषि जागरण को मिले तीनो आईएसओ सर्टिफिकेट का अनावरण किया गया. इस मौके पर डॉ. आर. बी. सिंह ने कहा कि कृषि जागरण जोकि किसानों के लिए जमीनी स्तर पर काम कर रहा है उसको इस तरह का सर्टिफिकेशन मिलना लाजमी है.

डॉ. आर.बी सिंह ने कहा किसान तक आधुनिक तकनीकों की जानकारी पहुंचाना एक बहुत बड़ी जिम्मेदारी का काम है जिसको कृषि जागरण बखूबी निभा रहा है. आज के समय में किसानों को मजबूत बनाना किसी चुनौती से कम नहीं है. उन्होंने कहा कि कृषि के क्षेत्र में महिलाओं का आना बहुत जरुरी है. इससे महिला शशक्तिकरण को बढ़ावा मिलेगा और कृषि क्षेत्र में इससे दूसरे व्यक्तियों को प्रेरणा मिलेगी.

इस मौके पर डॉ. एस.पी. मोहंती और नवीन चौधरी ने भी अपने विचार साझा किए. कृषि जागरण के मुख्य संपादक एम.सी. डोमिनिक ने आए हुए अतिथियों का स्वागत किया और उनके साथ अपने विचार साझा किए. इस मौके पर कृषि जागरण की पूरी टीम मौजूद रही.  

Comments