MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. ख़बरें

Rice Export Ban: भारत के चावल निर्यात प्रतिबंध के चलते कई देशों में कोहराम, 30 प्रतिशत तक बढ़ें दाम, पढ़ें पूरी खबर

भारत लगातार चावल के निर्यात को लेकर अपने प्रतिबंध को जारी किए हुए है. जिसके चलते कई देशों में अब परेशानियां बढ़ने लगी हैं. कई देशों ने तो भारत से इस प्रतिबंध को हटाने की मांग भी की है. जिससे उनके देश में चावल के बढ़ते दामों पर नियंत्रण लगाया जा सके.

प्रबोध अवस्थी
भारत में चावल के बढ़ते दामों को लेकर सरकार ने चावल का निर्यात पर प्रतिबंध
भारत में चावल के बढ़ते दामों को लेकर सरकार ने चावल का निर्यात पर प्रतिबंध

भारत में चावल के बढ़ते दामों को लेकर सरकार ने चावल के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया था. जिसके चलते दुनियाभर के कई देशों में इसका असर देखने को मिल रहा है. आपको बता दें भारत दुनिया में चावल का सबसे बड़ा निर्यातक देश है. जो लगभग हर साल 40 से 50 मिलियन टन चावल का निर्यात करता है. लेकिन भारत में चावल के बढ़ते दामों को लेकर सरकार ने इसके निर्यात पर रोक लगा दी है. चावल पर लगी यह रोक अन्य देशों में इसके दामों में 35 से 40 प्रतिशत वृद्धि के तौर पर दिखाई दे रही है.

20 प्रतिशत तक लगाईं एक्सपोर्ट ड्यूटी

भारत ने देश में बढ़ते चावल के दामों को लेकर रोक लगा रखी है जिसके चलते भारत में तो चावल के दामों में स्थिरता दिखाई दे रही है ,लेकिन अन्य देशों में इसका असर बखूबी देखा जा सकता है. भारत ने 26 अगस्त को उसना चावल (पारबॉयल्ड राइस) पर 20 परसेंट एक्सपोर्ट ड्यूटी भी लगाईं है.

कई देश कर रहे प्रतिबंध  हटाने की मांग

आपको बता दें कि भारत के चावल की मांग दुनिया भर के देशों में है. जिन देशों में चीन, वियानाम, थाईलैंड, अफ्रीका जैसे देश शामिल हैं. जिसमें बासमती, उसना जैसी चावल की किस्मों की मांग कई देशों में लगातार बनी ही रहती है. लेकिन भारत के इस प्रतिबंध के बाद कई देशों में इसे हटाने की मांग की है. चावल का निर्यात न हो पाने के कारण उनके देशों में चावल के मूल्य में 40 प्रतिशत तक की वृद्धि हुई है. लेकिन भारत अभी इस बारे में कोई भी प्रतिक्रिया देने के मूड में नहीं है. साथ ही अब वह इसके निर्यात पर 20 प्रतिशत की एक्सपोर्ट ड्यूटी भी लगा रखा है.

पश्चिमी अफ्रीका में 35% तक बढ़े दाम

इस निर्णय के बाद दुनिया भर देशों में कोहराम सा मचा हुआ है. उनके अनुसार भारत को यह निर्णय वापस लेकर देशों की अर्थव्यवस्था राहत देना चाहिए. आपको जानकारी लिए बता दें कि पश्चिमी अफ्रीका में चावल की निर्यात पर रोक से पहले 25 किलो के उसना चावल 14000 फ्रैंक्स का था, लेकिन भारत से एक्सपोर्ट पर बैन लगने के बाद इसका दाम 19,000 फ्रैंक्स तक हो गया है. 

यह भी देखें- डायबिटीज में खा सकते हैं लाल केला! भारत के कई राज्यों में होती है इसकी खेती

अफ्रीका में भारत का उसना चावल सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला चावल है.

English Summary: India imposed ban on export of rice Rice prices increased by 40 percent in many countries Published on: 03 October 2023, 06:47 PM IST

Like this article?

Hey! I am प्रबोध अवस्थी. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News