बढ़ते तापमान ने किसानों में पैदा किया डर

देश भर में तापमान में हुई अचानक वृद्धि से किसानों को सब्जियों के खराब होने का डर सता रहा है। यही कारण है कि उपज की बिक्री को लेकर चल रही किसानों की आपाधापी की वजह से पिछले दो सप्ताह में सब्जियों के दाम गिर गए है। सरकार के राष्ट्रीय बागवानी बोर्ड (एन.एच.बी.) द्वारा एकत्रित किए गए आंकड़े दर्शाते हैं कि मुंबई की थोक मंडी में फूलगोभी के दाम 17 मार्च से 25 प्रतिशत गिरकर फिलहाल 6 रुपए प्रति किलोग्राम पर चल रहे हैं। दिल्ली में करेला और बैंगन के दाम दो हफ्ते में क्रमश: 31.4 प्रतिशत और 36.4 प्रतिशत तक गिरकर 24 रुपए और 8.75 रुपए प्रति किलोग्राम रह गए हैं।

सब्जियों के दामों में आई इस तेज गिरावट ने किसानों में डर पैदा कर दिया है। अधिकांश किसान बेहतर आमदनी की उम्मीद में अगले साल वैकल्पिक फसल की ओर रुख करने की योजना तैयार कर रहे हैं। हालांकि किसानों के ज्यादा लाभकारी फसलों की ओर रुख करने से उनकी चिंता भी और ज्यादा बढ़ जाती है क्योंकि किसी क्षेत्र विशेष के सभी किसान समान रूप से समान बीजों की ही बुआई करते हैं। तापमान में हो रही बढ़ौतरी और जलाशयों में गिरते जल स्तर की वजह से सब्जियों की कटाई आने वाले हफ्तों में प्रभावित होगी।

ऑल इंडिया वेजीटेबल्स ग्रोवर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष श्रीराम गाढ़वे ने कहा कि इस साल सब्जियों की जोरदार फसल हुई है। इस कारण पिछले कुछ हफ्तों से आवक में तेजी की वजह से कीमतों में गिरावट आई है। इसके अलावा पिछले दो हफ्तों से तापमान में आई अचानक तेजी के कारण किसान सब्जी खराब होने के डर से अपनी काटी गई उपज को रोकना नहीं चाहते हैं। नुकसान से बचने के लिए किसान शीघ्रता से वैकल्पिक फसलों का रुख कर लेते हैं। बदकिस्मती से जिस फसल से किसान ज्यादा पैसा प्राप्त करने की कल्पना करते हैं, वास्तव में कटाई के समय उससे ही ज्यादा तनाव पैदा होता है। 

Comments